जेएनएन, पीलीभीत: इस बार लोकसभा चुनाव में भाजपा के कुछ विधायक व पदाधिकारी चाहते हैं कि पार्टी नेतृत्व किसी स्थानीय नेता को टिकट देकर प्रत्याशी बनाए। उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस बुलाकर मंशा जाहिर करने के साथ ही पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व प्रधानमंत्री समेत अन्य बड़े नेताओं को पत्र भेजकर मांग की है। रविवार को एक बरातघर में बीसलपुर विधायक रामसरन वर्मा, बरखेड़ा विधायक राम किशन राजपूत, बहेड़ी विधायक छत्रपाल ¨सह के साथ ही भाजपा ब्रज क्षेत्र समिति के उपाध्यक्ष सुरेश गंगवार, पूर्व राज्यमंत्री डॉ. विनोद तिवारी, पूर्व ब्लॉक प्रमुख अशोक गंगवार व शहर विधायक के प्रतिनिधि विजय गंगवार एकत्र हुए। इन लोगों ने प्रेस कांफ्रेंस करके कहा कि वे जन भावनाओं के अनुरूप लोकसभा चुनाव में स्थानीय व्यक्तित्व को प्रत्याशी चाहते हैं। संयुक्त हस्ताक्षरों से पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के साथ ही प्रधानमंत्री, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष, मुख्यमंत्री समेत अन्य बड़े नेताओं को पत्र भेजने की बात कही।

जिलाध्यक्ष बोले, यह उचित तरीका नहीं 

यह उचित तरीका नहीं है। विधायकों व अन्य पदाधिकारियों को पार्टी फोरम में बात रखनी चाहिए थी। पता चला है कि प्रेस कांफ्रेंस के दौरान मंच पर बसपा का भी एक व्यक्ति भी मौजूद था। पूरे मामले की जानकारी आला कमान को दे रहे हैं। बसपा कार्यकर्ता की मौजूदगी को भी गंभीरता से लिया जाएगा। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष को भेजे गए पत्र में दो जिला महामंत्रियों के नाम भी दर्शाए गए हैं। एक जिला महामंत्री ने लिखित तौर पर दिया है कि वह प्रेस कांफ्रेंस में शामिल नहीं हुए और न ही उनकी ओर से ऐसी कोई मांग है। दूसरे महामंत्री इस समय लखनऊ में हैं।

-राकेश गुप्ता, जिलाध्यक्ष भारतीय जनता पार्टी

--------------------------------

क्या बोलीं मेनका गांधी 

पार्टी फोरम में रखते अपनी बात केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका संजय गांधी ने कहा कि उन विधायकों व पदाधिकारियों को पार्टी फोरम में अपनी बात रखनी चाहिए थी। मंच पर बसपा नेता की मौजूदगी को उन्होंने गंभीर बताया। कहा कि बरखेड़ा विधायक तो कल तक उनके साथ घूमते रहे। ब्रज क्षेत्र समिति के उपाध्यक्ष सुरेश तो सपा से आए थे। शहर विधायक संजय गंगवार बसपा से भाजपा में आए। सवाल उठाया कि क्या ये लोग भाजपा को नुकसान पहुंचाकर फिर सपा-बसपा में जाना चाहते हैं। फोन पर हुई बातचीत में बोलीं कि इस प्रेस कांफ्रेंस के नाम पर जो कुछ हुआ वह बड़ा अजीब है।