पूरनपुर (पीलीभीत) : शाहजहांपुर जनपद से काटकर पीलीभीत में शामिल किए गए 94 गांवों में अभी तक डाक सेवा सुचारु रूप से शुरू नहीं हो सकी है। लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। अधिकांश विभागों का समायोजन होने के बावजूद इस विभाग का पूर्ण रूप से समायोजन न होने से लोगों में रोष है।

वर्ष 2001 में शाहजहांपुर के 94 गांवों को काटकर पीलीभीत में शामिल कर दिया गया था। शुरू में सभी विभागों का कार्य शाहजहांपुर से ही हो रहा था। धीरे-धीरे अधिकांश विभागों का समायोजन पीलीभीत में कर दिया गया लेकिन डाक सेवा का समायोजन पूर्ण रूप से अब तक नहीं हो सका है। हालांकि पिछले कुछ माह तक बिजली भी 94 गांवों के लोगों को शाहजहांपुर से ही मिल रही थी,लेकिन हरिपुर में सब स्टेशन बन जाने से यह कुछ गांवों में बिजली सप्लाई शुरु हो गई है। अभी अधिकांश गांवों में शाहजहांपुर के खुटार से बिजली मिल रही है। कुछ गांवों को घुंघचाई उपकेंद्र से बिजली सप्लाई दी जा रही है। अभी तक पूर्ण रूप से डाक सेवा का समायोजन न होने से लोगों को जरूरी कागजात और अन्य सामग्री नहीं मिल पा रही है। शाहजहांपुर से ही इस विभाग का संचालन किया जा रहा है। सिर्फ दो गांव जितौरिया टांडा और गुलड़िया भूप सिंह के ही पीलीभीत की डाक सेवा से जोड़ा गया है। कई बार इस ओर जनप्रतिनिधि और अधिकारियों का ध्यान आकर्षित करते हुए डाक सेवा का भी समायोजन कराने की मांग की है। डाक सेवा का समायोजन बेहद जरूरी है। आवश्यक कागजात नहीं मिल पाते हैं। दूसरे जिले से डाक आने से काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। पीलीभीत से ही इस विभाग को संचालित कराया जाना चाहिए जिससे लोगों की दिक्कतों समाप्त हो सकें।

-बराती गुप्ता

जनप्रतिनिधियों और उच्चाधिकारियों इस समस्या पर बेहद गंभीरता से ध्यान देना चाहिए जिससे जल्द ही डाक सेवा का भी पूरी तरीके से समायोजन हो सके और लोगों को सहूलियत मिले।

-राजकुमार शर्मा

डाक सेवा पीलीभीत से होना बेहद महत्वपूर्ण है। सिर्फ दो गांवों में ही नहीं सभी गांवों में इस सेवा को प्राथमिकता के साथ लागू किया जाना चाहिए जिससे लोगों को अपनी चिट्ठी पत्री समय से मिल सके।

-आशुतोष दीक्षित,प्रधान संगठन जिलाध्यक्ष।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप