पीलीभीत : भारतीय जनता युवा मोर्चा का जिला उपाध्यक्ष बताकर एक युवक ने अंतरराष्ट्रीय महिला पर्वतारोही को केंद्रीय मंत्री से आर्थिक मदद दिलाने का झांसा देकर 40 हजार रुपये ठग लिए। पीड़ित महिला की ओर से पिछले साल दिसंबर में ही इस प्रकरण का मुकदमा दर्ज करा दिया गया था लेकिन पुलिस अभी तक मामले की छानबीन नहीं कर सकी है। पुलिस का कहना है कि विवेचना चल रही है। पीड़ित महिला का कोर्ट में बयान दर्ज कराया जाएगा।

देहरादून में रहने वाली अंतरराष्ट्रीय पर्वतारोही ज्ञान नंदिनी ने कोतवाली में दर्ज कराई रिपोर्ट में कहा कि कई महीने पहले देहरादून में ही उनकी मुलाकात एक युवक से हुई। युवक ने खुद को पीलीभीत में भाजयुमो का जिला उपाध्यक्ष बताया। वह कई देशों में ऊंची पर्वत चोटियों पर चढ़ाई कर चुकी है। उसकी तमन्ना माउंट एवरेस्ट पर चढ़ाई करने की है। इसके लिए उसे आर्थिक मदद चाहिए थी। युवक को जब उसने अपनी यह इच्छा बताई तो युवक ने केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका संजय गांधी से अपनी निकटता बताते हुए उसे आर्थिक मदद दिलाने का भरोसा दिया। युवक उसके देहरादून स्थित कैंप में भी गया। बाद में उसने किसी रिश्तेदार के बीमार होने की बात कहकर 15 हजार रुपये ले लिए। इसके बाद 25 हजार रुपये और लिए। बाद में जब उसने केंद्रीय मंत्री से आर्थिक मदद दिलाने की बात फिर कही तो वह पहले टालता रहा। बाद में उसने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का जिक्र करके हुए पचास लाख की धनराशि आर्थिक मदद के तौर पर स्वीकृत किए जाने संबंधी केंद्रीय मंत्री का फर्जी पत्र उसे ई-मेल किया। शक होने पर उसने मंत्रालय से जांच कराई तो पत्र फर्जी पाया गया। खुद केंद्रीय मंत्री ने इस धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किए जाने के निर्देश दिए थे। कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक बृजकिशोर मिश्रा का कहना है कि मामले की विवेचना चल रही है। पीड़ित महिला को कोर्ट में बयान के लिए बुलाया या है। रिपोर्ट में आरोपित का नाम, पता नहीं होने के कारण उसके बारे में जानकारी जुटाई जा रही है।---------------------

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस