जागरण संवाददाता, नोएडा : सेक्टर-63 स्थित एसजेएम अस्पताल के पास सड़क पर शुक्रवार सुबह बम मिलने की सूचना से अफरातफरी मच गई। मौके पर पहुंची फेस-3 कोतवाली पुलिस ने तत्काल आसपास के परिसर को खाली कराकर सर्च अभियान चलाया। सर्च अभियान में पुलिस को पानी से भरी दो प्लास्टिक की बोतल मिली। इन्हें कुछ शरारती तत्वों ने आपस में बांधकर उस पर एक घड़ी लगा दी थी। इससे लोगों को लगा कि यह टाइम बम है। हालांकि पुलिस अब सीसीटीवी कैमरे के आधार संदिग्ध वस्तु को सड़क पर छोड़ने वालों की तलाश कर रही है।

पुलिस को सुबह साढ़े 7 बजे सूचना मिली कि एक संदिग्ध वस्तु छिजारसी के पास सड़क पर पड़ी है। सूचना के बाद पुलिस, डाग स्क्वायड, बम निरोधक दस्ता और फायर ब्रिगेड टीम के साथ पुलिस आयुक्त आलोक सिंह भी मौके पर पहुंचे। बम निरोधक दस्ते ने परीक्षण में पाया गया कि उस संदिग्ध वस्तु में कोई भी डेटोनेटर एवं विस्फोटक पदार्थ नहीं था। बीडीएस टीम ने सुरक्षा के साथ संदिग्ध वस्तु को रास्ते से हटाया। उधर, मौके पर पहुंचे पुलिस आयुक्त ने मीडिया से बातचीत में गणतंत्र दिवस से पूर्व किसी आतंकी घटना व साजिश से शहर को दहलाने की बात से इन्कार किया है।

यातायात रहा प्रभावित :

बम की अफवाह से गाजियाबाद से छिजारसी की तरफ आने-जाने वाली सड़क पर सुबह साढ़े 7 बजे से 9 बजे तक यातायात बाधित रहा। इससे दिल्ली व गाजियाबाद के वाहन चालकों को दूसरे रास्ते अपने गंतव्य तक जाना पड़ा। गौरतलब है इससे पूर्व गुरुवार को भी सेक्टर-27 स्थित निजी अस्पताल में बम रखने की सूचना मिली थी, लेकिन पुलिस ने जब अस्पताल पहुंचकर जांच की, तो यह अफवाह मिली थी।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021