संस, जेवर : जेवर के मोहल्ला सल्लियान निवासी एक युवक की दस दिन पूर्व संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। खुर्जा पुलिस ने उसके शव को लावारिस मानते हुए अंतिम संस्कार कर दिया। युवक की मौत की सूचना पर स्वजन में कोहराम मच गया है। युवक दो सप्ताह पूर्व घर से ससुराल जाने के लिए कहकर गया था। उसका पत्नी के साथ विवाद चल रहा था।

पीड़ित स्वजन मोहल्ले के लोगों के साथ बृहस्पतिवार को जेवर कोतवाली पहुंचे। स्वजन ने बताया कि 25 वर्षीय जीवन दो अक्टूबर को घर से ससुराल बुलंदशहर के नार मोहम्मदपुर गांव जाने के लिए कहकर गया था। उसका पत्नी के साथ बीते दो माह से किसी बात को लेकर विवाद चल रहा था। वह बृहस्पतिवार तक घर नहीं लौटा तो स्वजन ने उसकी ससुराल व अन्य स्थानों पर खोजबीन की, लेकिन उसका कोई सुराग नहीं लगा। बृहस्पतिवार को किसी परिचित ने उन्हें बताया कि खुर्जा कोतवाली क्षेत्र के गांव नार मोहम्मदपुर में पुलिस को एक अज्ञात युवक का शव मिला था। परिचित ने उन्हें मृतक के फोटो भी उपलब्ध कराए। स्वजन ने फोटो देखकर युवक की पहचान जीवन के रूप में की और खुर्जा पुलिस से संपर्क किया। खुर्जा पुलिस ने स्वजन को बताया कि छह अक्टूबर को गांव नार मोहम्मदपुर के जंगल में एक अज्ञात युवक का शव मिला था। जिसकी तीन दिन में पहचान न होने पर लावारिस मानकर शव का अंतिम संस्कार कराया गया था। स्वजन का आरोप है कि गांव में किसी अज्ञात की मौत के बाद पुलिस ने ग्रामीणों से शव की शिनाख्त की कोशिश की थी। जीवन की शादी पांच वर्ष पूर्व हुई थी। उसे ससुराल में ज्यादातर लोग पहचानते थे। शव की पहचान न किए जाने पर स्वजन ने उसकी हत्या का शक जताया है।

पति की मौत की सूचना पर बृहस्पतिवार को उसकी पत्नी भी ससुराल पहुंच गई, जिसका युवक के स्वजन ने विरोध किया। दोनों पक्षों में विवाद होने पर स्वजन मोहल्ले के लोगों के साथ जेवर कोतवाली पहुंचे और पुलिस से मामले की शिकायत की। कोतवाली प्रभारी उमेश बहादुर सिंह ने बताया कि उन्होंने स्वजन को बुलंदशहर पुलिस से संपर्क करने की सलाह दी है। घटनास्थल पर अज्ञात शव मिलने का मामला खुर्जा कोतवाली में दर्ज है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी बुलंदशहर पुलिस के पास है।

Edited By: Jagran