जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा: भारतीय जनता पार्टी ने दिग्गज नेता प्रदेश के चुनावी दंगल में उतर गए हैं। प्रत्याशियों के पक्ष में जनसंपर्क कर रहे हैं। इसी क्रम में उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने रविवार को ग्रेटर नोएडा पहुंचकर पार्टी प्रत्याशियों के पक्ष में जनसंपर्क किया। उन्होंने कहा कि जो गुंडा, माफिया पांच साल में प्रदेश से पलायन कर गए थे, अब लौट आए हैं। विपक्षी पार्टियों ने उन्हें प्रत्याशी बनाया है या दंगों के आरोपित उनके समर्थन में प्रचार कर रहे हैं। जनता परिवारवाद, संप्रदायिकता, क्षेत्रवाद से ऊपर उठकर प्रदेश के विकास के लिए वोट करे।

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा की सरकार में प्रदेश अपराध से मुक्त हुआ है। बहन-बेटियों को सम्मान बढ़ा है। घरों को छोड़कर जो लोग पलायन कर रहे थे, उनका पलायन रुका है। बहुसंख्यकों के खिलाफ उन्माद फैलाकर, ध्रुवीकरण करने वालों के मंसूबे पूरे नहीं होंगे। उप मुख्यमंत्री ने सेक्टर अल्फा एक के डी ब्लाक में लोगों के घर-घर जाकर जनसंपर्क किया ओर पत्रिका बांटी। लोगों ने फूल बरसाकर उपमुख्यमंत्री का स्वागत किया। जनसंपर्क के बाद उपमुख्यमंत्री ने नालेज पार्क के आइआइएमटी कालेज में प्रभावी मतदाता संवाद कार्यक्रम को संबोधित किया। इसमें बीडीसी, प्रधान आदि को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश में पूर्व की सरकार के कार्यकाल में पश्चिम उत्तर प्रदेश में घर जल रहे थे। लखनऊ में क्रिकेट मैच में चौके-छक्के लगाए जा रहे थे।

दिनेश शर्मा ने कहा कि पांच साल में प्रदेश की भाजपा सरकार ने जो कार्य किए हैं, वह पिछली सरकारें कई सालों में भी नहीं कर सकीं। प्रदेश में अब जनता ने विकासवाद का स्वाद चखा है। कोरोनाकाल में मुख्यमंत्री, मंत्री व पार्टी कार्यकर्ता लोगों की मदद के लिए घर-घर पहुंचे। ढाई सौ माध्यमिक विद्यालय बनाकर शुरू किए गए। तीन नए सैनिक स्कूल बन रहे हैं। 78 डिग्री कालेज शुरू हो चुके हैं। शिक्षकों के पद सृजित हुए हैं। आजादी के बाद पहली बार इतनी बड़ी संख्या में पारदर्शी तरीके से शिक्षकों की भर्ती हुई है। उन्होंने आचार संहिता का पालन करने की अपील की। इस मौके पर एमएलसी श्रीचंद शर्मा, एमएलसी नरेंद्र भाटी, जिलाध्यक्ष विजय भाटी, जितेंद्र भाटी, कर्मवीर आर्य आदि मौजूद थे। बाक्स

आचार संहिता को लेकर किया सतर्क

जनसंपर्क के दौरान काफी संख्या में लोग उप मुख्यमंत्री के आसपास पहुंच गए, लेकिन चुनावी मौसम में आदर्श चुनाव आचार संहिता को लेकर उप मुख्यमंत्री बेहद सतर्क दिखे। लोगों से अपील करते रहे कि पांच लोग से अधिक उनके साथ न एकत्र हों।

Edited By: Jagran