जागरण संवाददाता, नोएडा :

बॉटेनिकल और ओखला बर्ड सेंचुरी मेट्रो स्टेशन के बीच मेट्रो ट्रैक से बिजली के तार चोरी करने वालों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपित मेट्रो ट्रैक पर रस्सी के सहारे चढ़े थे और कॉपर के तार काट कर रस्सी पकड़ कर नीचे आ गए थे। आरोपित रो¨हग्या समुदाय के हैं और उनसे शरणार्थी कार्ड भी बरामद हुआ है। कोतवाली सेक्टर 39 पुलिस ने आरोपितों से चोरी किए गए कॉपर के तार, एक स्विफ्ट कार और स्कूटी बरामद की है। बरामद तार की कीमत करीब 10 लाख रुपये है। सभी आरोपितों को सोमवार को कोर्ट में पेश कर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।

30 जनवरी की रात चोरों ने बॉटेनिकल और ओखला बर्ड सेंचुरी मेट्रो स्टेशन के मजेंटा लाइन-8 से कॉपर के तार चोरी कर ली थी। दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के सीनियर मैनेजर बिदय पार्टीदार ने कोतवाली सेक्टर 39 में चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। उन्होंने शिकायत दी थी कि मजेंटा लाइन-8 से करीब 45 मीटर कॉपर के कीमती तार चोरी किए गए हैं। कोतवाली प्रभारी इंस्पेक्टर उदय प्रताप ¨सह ने बताया कि सोमवार सुबह पुलिस टीम अमेठी ग्लोबल स्कूल सेक्टर 44 में चे¨कग कर रही थी। इसी दौरान आरोपितों को स्विफ्ट कार और स्कूटी के साथ गिरफ्तार किया गया है। आरोपित असलम, असिफ उर्फ रहमान, मंजूर आलम, नाजीर, लाला उर्फ अलीहसन दिल्ली के रहने वाले हैं, जबकि जुबैर मलिक मवाना मेरठ का रहने वाला है। जुबैर ही गैंग का लीडर है। इनसे मेट्रो ट्रैक से चोरी किए गए केबल के 16 टुकड़े बरामद हुए हैं। इसकी लंबाई 246 मीटर है। इसके अलावा इनसे एक केबल कटर, तीन लोहा काटने की आरी, रस्सा हुक लगा हुआ, तमंचा आदि सामान बरामद हुआ है।

---

मेट्रो लाइन से कॉपर चोरी कर कबाड़ी को बेचते थे-

इंस्पेक्टर का कहना है कि आरोपित मेट्रो लाइन से कॉपर के केबल की तार चोरी करते हैं। इससे पहले भी वे जेल जा चुके हैं। आरोपित चोरी के तार को कबाड़ी को बेचते हैं। इस केबल की कीमत 3 हजार प्रति मीटर है। इसे कबाड़ी आधी कीमत पर खरीद लेते हैं। इससे पहले आरोपितों ने ओखला मेट्रो लाइन दिल्ली से भी तार चोरी की थी।

Posted By: Jagran