कुंदन तिवारी, नोएडा : खेल-खेल में बच्चों का ज्ञानवर्धन हो। घर से लेकर स्कूल तक खिलौनों के जरिये बच्चों को अच्छे संस्कार मिले। नये इनोवेशन के साथ खिलौनों का देश में उत्पादन शुरू हो। 10 हजार करोड़ के बाजार को बढ़ाकर 25 हजार करोड़ रुपये तक पहुंचाया जाए। इससे अर्थव्यवस्था मजबूत होने के साथ ही देश आत्मनिर्भर बनने की ओर अग्रसर होगा। नई एंटरप्रिनियोर्शिप की खेप तैयार होगी। बढ़ती बेरोजगारी पर सरकार को अंकुश लगाने में सफलता मिलेगी। इस उद्देश्य के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुनिया के सबसे बड़ा वर्चुअल 'द इंडियन टॉय फेयर 2021' का दिल्ली में शनिवार को उद्घाटन किया है। केंद्र सरकार की मंशा है कि टॉय मैन्यूफैक्चरिग क्लस्टर केवल एक क्षेत्र विशेष तक सीमित न रहे, बल्कि देश टॉय मैन्यूफैक्चरिग हब बनकर उभरे। इसके लिए 'द इंडियन टॉय फेयर 2021' को लांच किया है। इसमें करीब 23 लाख लोग वर्चुअल फेयर को देखने रजिस्टर्ड हो चुके हैं, जबकि तीन करोड़ लोगों का फेयर देखने का अनुमान लगाया जा रहा है। नोएडा समेत 60 क्लस्टर हुए शामिल

27 फरवरी से 2 मार्च तक आयोजित होने वाली इस वर्चुअल प्रदर्शनी में 1074 खिलौना निर्माता हस्तशिल्पी और निर्यातक शामिल हुए हैं। प्रदर्शनी में एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल फॉर हैंडीक्राफ्ट विशेष भूमिका निभा रहा है। इसके तमाम सदस्य नोएडा, सहारनपुर, जोधपुर, वाराणसी समेत अन्य शहरों के 60 क्लस्टर में शामिल हुए हैं। बीटूबी और बीटूसी बिजनेस को दिया गया बढ़ावा

फेयर में एक खिलौना खरीदने से लेकर बल्क में आर्डर देने के लिए ई कामर्स प्लेटफार्म उपलब्ध है। इससे बिजनेस टू बिजनेस (मैन्यूफैक्चरर उत्पाद तैयार कर निर्यातक को बेचे या बायर्स को बेचें) और बिजनेस टू कंज्यूमर (कंज्यूमर मैन्यूफैक्चरर या निर्यातक या बायर्स को उत्पाद का आर्डर दे) को सीधे बढ़ावा दिया जा सकेगा। सरकार ने अपनी नीति स्पष्ट कर दी है कि आने वाले समय में वह ई-कामर्स कंपनियों को सीधी चुनौती दिलावाएगी। इसके लिए आठ मंत्रालयों को फेयर में शामिल किया है। सभी निर्माता व एक्सपोर्टर का वीडियो वेबसाइट पर लोड कराए गए हैं। बॉक्स..

खिलौना कारोबार की स्थिति

वर्ग - संख्या

दुनिया में कुल कारोबार 7 लाख करोड़ रुपये

देश कुल कारोबार 25000 करोड़ रुपये

चीन 65 फीसद आयात

थाईलैंड, कोरिया, जर्मनी 5 फीसद आयात

देश में निर्मित 30 फीसद

प्राथमिक, सूक्ष्म, कुटीर 6000 निर्माता

मैकेनिकल खिलौना 12 फीसद जीएसटी

इलेक्ट्रॉनिक्स खिलौना 18 फीसद जीएसटी

--------

फेयर की वास्तविक स्थिति :

वर्ग संख्या

रजिस्ट्रेशन 2259816

विजिटर्स 33987

मुख्य वक्ता 100 से अधिक

-----------

स्रोत: द इंडियन टॉय फेयर 2021 की वेबसाइट पर जारी डाटा। वर्जन..

पहली बार नए इनोवेशन के लिए बच्चों को प्रोत्साहित करने के लिए प्रधानमंत्री ने उद्यमी और कारीगरों को एक प्लेटफार्म दिया है।

-राजेश जैन, एमडी, एक्समार्ट इंटरनेशनल एवं पूर्व उपाध्यक्ष एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल फॉर हैंडीक्रॉफ्ट

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021