जागरण संवाददाता, नोएडा :

ऑटो गैंग पर लगाम लगाने और सुरक्षित परिवहन के लिए नोएडा में पहली बार दिल्ली की तर्ज पर प्री-पेड ऑटो संचालित करने की तैयारी चल रही है। पिछले मंगलवार की रात सेक्टर 63 स्थित इलेक्ट्रानिक सिटी मेट्रो स्टेशन के बाहर से ऑटो में युवती को बैठा अपहरण व छेड़छाड़ की घटना के बाद सुरक्षा को लेकर यातायात पुलिस की तरफ से यह कदम उठाया जा रहा है। पहले चरण में शहर के तीन प्रमुख मेट्रो स्टेशन बॉटेनिकल गार्डन, सेक्टर 52 व इलेक्ट्रानिक सिटी मेट्रो स्टेशन के बाहर से इसका संचालन करने की योजना तैयार की जा रही है। अगले सप्ताह तक इसे शुरू करने की तैयारी है। प्रीपेड मीटर ऑटो का संचालन शुरू होने के बाद इन तीनों मेट्रो स्टेशन के बाहर केवल वहीं ऑटो खड़े होंगे, जिनका यातायात पुलिस की तरफ से सत्यापन के बाद रजिस्ट्रेशन किया जाएगा। यातायात पुलिस पूरी व्यवस्था का संचालन करेगी और मेट्रो के समयानुसार वहां से ऑटो मिलेंगे। परिवहन विभाग की तरफ से तय किया जाएगा किराया : प्रीपेड ऑटो का किराया परिवहन विभाग व प्रशासन की तरफ से तय किया जाएगा। इसके लिए यातायात पुलिस इन विभागों से संपर्क करेगी। तीनों मेट्रो स्टेशन के बाहर यातायात पुलिस का बूथ बनेगा और वहीं से यातायात पुलिस की टीम तय रेट लिस्ट के हिसाब से इसका संचालन करेगी। चालकों को अपने ऑटो में मीटर भी लगाना होगा। इससे नं केवल सुरक्षा बढेगी, बल्कि ऑटो चालकों द्वारा किराए में मनमानी पर भी लगाम लगेगी। ऑपरेशन चेकमेट में 700 टेंपो-ऑटो के खिलाफ हुई थी कार्रवाई :

बेलगाम टेंपो-ऑटो के खिलाफ पिछले दिनों अभियान चलाकर कार्रवाई की गई थी। ऑपरेशन चेकमेट नाम से चले अभियान में 700 से अधिक टेंपो-ऑटो के चालान किये गए थे और बड़े स्तर पर सीज भी किये गए थे। पुलिस के अनुसार कार्रवाई के कुछ ही समय बाद यह सब टेंपो-ऑटो छूट गए। रात में सुरक्षित यातायात के लिए नहीं है कोई सुविधा : नोएडा में हजारों मल्टीेनेशनल कंपनियां व कॉल सेंटर हैं। इन कंपनियों के अलावा बड़ी संख्या में फैक्ट्री में 24 घंटे काम होता है। उसमें काम करने वाली महिला सहित अन्य कर्मचारी रात को भी निकलते हैं। लेकिन रात के समय सुरक्षित यातायात के लिए कोई साधन नही है। नोएडा में रात के समय परिवहन या एनएमआरसी की तरफ से कोई बस का संचालन नहीं होता है। ऐसे में रात 11 बजे के बाद मेट्रो का संचालन बंद होने के बाद टेंपो ही केवल सहारा होते हैं।इसी का फायदा उठाकर ऑटो गैंग लूट के अलावा महिलाओं से छेड़छाड़ की वारदात को अंजाम देते हैं। प्री पेड मीटर का संचालन शुरू होने के बाद मेट्रो स्टेशनों के बाहर हो रही वारदातों पर लगाम लग सकेगी। शहर के तीन प्रमुख मेट्रो स्टेशन के बाहर से प्री-पेड मीटर से ऑटो संचालन की व्यवस्था की शुरूआत करने की तैयारी चल रही है। जल्द से जल्द यह व्यवस्था शुरू होगी। उम्मीद है कि इसकी शुरूआत के बाद मेट्रो स्टेशन के बाहर व्यवस्था में सुधार दिखेगा और सुरक्षा भी बढ़ेगी।

वैभव कृष्ण, एसएसपी

Posted By: Jagran