जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा : ग्रेटर नोएडा में आतंक का पर्याय बन चुके पेचकस गिरोह पर गौतमबुद्ध नगर कमिश्नरेट पुलिस कहर बनकर टूटी है। बीटा दो कोतवाली क्षेत्र के चूहड़पुर अंडरपास के समीप हुई मुठभेड़ में गिरोह के चार बदमाशों के पैर में गोली लगी है। गंभीर स्थिति को देखते हुए घायल बदमाशों को जिला अस्पताल से हायर सेंटर सफदरजंग दिल्ली के लिए रेफर कर दिया गया है। बदमाशों के कब्जे से लूट के एक लाख रुपये, घटना में इस्तेमाल होने वाली स्विफ्ट कार, लूट के एटीएम कार्ड, मोबाइल, पेचकस, हथौड़ी समेत कई अन्य औजार बरामद किए गए है। बदमाशों को पकड़ने वाली टीम को पुलिस आयुक्त आलोक सिंह ने 50 हजार का इनाम दिया है। पिछले छह महीने से यह गिरोह पुलिस के लिए चुनौती बना हुआ था।

अपर पुलिस आयुक्त लव कुमार ने बताया कि पेचकस गिरोह को पकड़ने के लिए एडिशनल डीसीपी विशाल पांडेय व बीटा दो कोतवाली प्रभारी अनिल राजपूत की टीम ने रविवार सुबह साढ़े आठ बजे के करीब परीचौक के समीप घेराबंदी की। पुलिस को देखकर बदमाश फायरिग करते हुए भागे। पुलिस ने पीछा किया। चूहड़पुर अंडरपास के समीप जवाबी कार्रवाई में चार बदमाशों के पैर में गोली लगी। बदमाशों की पहचान आनंद वर्मा निवासी रेवाड़ी हरियाणा, शिव कुमार बुलंदशहर, बबलू वर्मा मायचा ग्रेटर नोएडा व दीपक के रूप में हुई है। पूछताछ में पता चला कि बदमाश सुबह आठ से 11 के बीच ग्रेटर नोएडा क्षेत्र में राहगीरों को लिफ्ट देकर कार में बैठाते थे। राहगीर से लूटपाट करते थे और एटीएम का पिन पूछकर रुपये निकलवाते थे। पिन नहीं बताने पर बदमाश पेचकस मारकर घायल कर देते थे। पुराना है आपराधिक इतिहास

एसीपी महेंद्र सिंह देव ने बताया कि बदमाश 2016 में भी ऐसी घटनाओं को अंजाम देने के मामले में दूसरे जनपद से जेल जा चुके है। पकड़े गए बदमाश दीपक व आनंद पर 17, शिवकुमार पर 12 व बबलू पर कुल आठ आपराधिक मुकदमे दर्ज है। कई ऐसे भी मामले है जिसमें पीड़ितों ने पुलिस से शिकायत नहीं की। पुलिस ऐसी पीड़ितों को तलाश रही है। जीएम पर पेचकस से किए थे नौ वार

बदमाशों ने बीते सात अक्टूबर को रेयान गोलचक्कर के समीप से फैक्ट्री के जीएम मृगेंद्र कटियार का अपहरण कर उनसे लूटपाट की थी। एटीएम से रुपये निकलवाए थे। विरोध करने पर उन पर पेचकस से नौ वार किए थे। घटना के बाद पीड़ित इतना डर गए थे कि वह कुछ समय के लिए सदमे में चले गए थे। इंटरनेट मीडिया पर हुई सराहना

पेचकस गिरोह के लंबे समय से चुनौती बने होने की वजह से पुलिस को आलोचना झेलनी पड़ रही थी। रविवार सुबह बदमाशों के पकड़े जाने के लिए इंटरनेट मीडिया पर ग्रेटर नोएडा वेस्ट की कई अलग-अलग संस्थाओं व शहर के लोगों ने बीटा दो कोतवाली पुलिस की सराहना की है।

Edited By: Jagran