जागरण संवाददाता, नोएडा : सावन के अंतिम सोमवार को श्रद्धालुओं ने मंदिरों में पहुंचकर भगवान शंकर की पूजा-अर्चना की। कई भक्तों ने घरों में शिवलिंग स्थापित कर जलाभिषेक किया। मंदिरों में सरकार के निर्देशों के अनुसार ही शिवालयों में शारीरिक दूरी, मास्क का इस्तेमाल कर दुग्धाभिषेक व भगवान शिव की पूजा की गई। सेक्टर-2 स्थित श्री लाल मंदिर में शिव भक्त जलाभिषेक करने सुबह पांच बजे से पहुंचने लगे थे। वहीं, सेक्टर-19 स्थित सनातन धर्म मंदिर में भी सुबह से ही श्रद्धालु भोले की भक्ति में लीन दिखे। मंदिर के पुजारी ने बताया कि अंतिम सोमवार मंदिर में काफी चहल-पहल रही। जलाभिषेक और दर्शन-पूजन के लिए कई श्रद्धालु मंदिर पहुंचे। कोरोना संक्रमण से बचाव और विधि-व्यवस्था को देखते हुए मंदिर समिति की ओर से तैयारी की गई थी। जलाभिषेक कर दूर से भगवान का आशीर्वाद लिया

सेक्टर-71 स्थित बाबा बालक नाथ मंदिर में श्रद्धालुओं ने दूर से ही भगवान का आशीर्वाद लिया। मंदिर में श्रद्धालुओं को फूल चढ़ाने की इजाजत नहीं थी। सेक्टर-55 सी ब्लॉक शिव शक्ति मंदिर के पुजारी राम नारायण शास्त्री ने बताया कि पूजा स्थल को लेकर शासन से जारी दिशा-निर्देशों का पालन किया गया। इसके अलावा सेक्टर-100 स्थित वोडा महादेव मंदिर, सेक्टर-82 शिव मंदिर, चौड़ा गांव दुर्गा मंदिर, सेक्टर-12 नर्मदेश्वर मंदिर में शिव भक्तों ने भगवान शिव को जलाभिषेक किया। कोरोना से मुक्ति की प्रार्थना

सेक्टर-110 स्थित लोटस पनाचे सोसायटी के शिव मंदिर में सावन के अंतिम सोमवार को रुद्राभिषेक का आयोजन किया गया। मंदिर के पुजारी पंडित कमलाकांत मिश्रा ने सुबह अभिषेक और पूजन संपन्न कराया। शारीरिक दूरी का पालन करते हुए निवासियों ने शिव के दर्शन किए। भक्तों ने भगवान शंकर से देश को कोरोना से जल्द मुक्ति दिलाने की प्रार्थना की। इस मौके पर जमुना दास गुप्ता, करन सिंह, देवेश मिश्रा, विकास कपूर, वीपी सिंह, एसपी अग्रवाल मौजूद रहे। सोमवार का दिन भगवान शिव को ही समर्पित किया गया है। इस बार सावन की शुरुआत सोमवार से हुई और समाप्ति भी सोमवार को हुई। कोरोना संक्रमण के चलते शासन द्वारा जारी गाइड लाइन का पालन करते हुए भक्तों ने शिवलिंग पर जलाभिषेक के लिए डिस्पेंसर लगाया गया था।

-शिवकुमार पांडे, पुजारी, सेक्टर-20 स्थित हनुमान मंदिर

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021