जागरण संवाददाता, नोएडा :

युद्ध के मैदान में सैनिक भले ही अकेला लड़ाई लड़ रहा हो, लेकिन उसे भरोसा होता है कि देश के लोग उनके साथ हैं। यही विश्वास और देश प्रेम सैनिकों को देश के लिए सर्वोच्च योगदान देने की प्रेरणा देता है। 14 जनवरी को सेना दिवस के मौके पर यह कहना है सेवानिवृत्त सैन्यकर्मियों का, जिनका जीवन देश सेवा में समर्पित रहा है। इनके लिए अब भी अतिक्रमण, गंदा नाला, बिजली के जर्जर तार, मीटर पैनल और कूड़ा निस्तारण समस्या बने हुए हैं। इसका हल निकालने के लिए सरकारी कार्यालयों के साथ जनप्रतिनिधियों के चक्कर लगाने के बावजूद कोई समाधान नही हुआ है।

दरअसल अरुण विहार सोसायटी में सेवानिवृत सैन्य अधिकारियों, देश के लिए सर्वोच्च बलिदान दे चुके सैनिकों के साथ कई सैन्य अधिकारी और जवानों के परिवार के करीब 20 हजार लोग रहते हैं। सड़कों पर वेंडरों के साथ टैक्सी चालकों के अतिक्रमण से समस्या आम बात बन चुकी हैं। वहीं गंदे नाले से निकलने वाली हानिकारक गैस और दीवारों के टूटने के कारण घरों में घुसने वाले पानी से लोग परेशान हें। वहीं, जर्जर बिजली के तार के कारण बिजली आपूर्ति बाधित होने की समस्या लगातार बनी हुई है। घरों में कनेक्शन के लिए बने हुए जंक्शन बाक्स जर्जर हालत में हैं। यहां पर पूर्व में दुर्घटना भी हो चुकी है। इस दौरान नियमित तौर पर प्राधिकरण की तरफ से लकड़ियों और कूड़े के ढेर को नहीं उठाने की समस्या लोगों की परेशानी बढ़ा रही है। - सोसायटी में सुविधाओं के अभाव के चलते हालत कच्ची कालोनी की तरह हो गई है। समस्याओं को हल करने के लिए लगातार मांग की जा रही है।

- सेवानिवृत कर्नल आईपी सिंह, अरुण विहार रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन - नाले सहित जर्जर बिजली के तार की समस्या गंभीर बनी हुई है। इससे निजात दिलाने की जरूरत है।

- सेवानिवृत्त कर्नल वीएन थापर , निवासी अरुण विहार सोसायटी

Edited By: Jagran