जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा : अंतरराष्ट्रीय जूनियर एचसीएल स्क्वैश चैंपियनशिप का फाइनल दादरी स्थित शिव नादर यूनिवर्सिटी में शुक्रवार को खेला गया। दोपहर करीब साढ़े बारह बजे से शुरू हुए मैच के अंडर-19 आयु वर्ग में आर्यन पारेख, अंडर-17 में सान्या वत्स व संकल्प आनंद, अंडर-15 में ऐश्वर्या खुबचंदानी, आर्यन खंडेलवाल, अंडर-13 में आश्या पटेल व युवराज वाधवानी समेत अंडर-11 में अनाहत ¨सह व एकमवीर ¨सह विजेता घोषित हुए।

एशियाई स्क्वैश फेडरेशन के तहत यह सिल्वर ईवेंट साबित हुआ। इसे स्क्वैश रैकेट फैडरेशन ऑफ इंडिया ने पांच सितारा रे¨टग दी गई। शिव नादर यूनिवर्सिटी में इस प्रतियोगिता को बीते वर्ष की तरह इस वर्ष भी जोश व बेहतर प्रदर्शन के साथ आयोजित किया गया। चैंपियनशिप में विजेता खिलाड़ियों को मुख्य अतिथि अर्जुन पुरस्कार विजेता बोम्बायला देवी लैशराम ने पुरस्कृत किया। बोम्बायला देवी मणिपुर की रहने वाली धुरंधर खिलाड़ी हैं। टूर्नामेंट के दौरान खेले गए मैचों के लिए रैं¨कग प्वाइंट मिलेंगे, इसमें आयु वर्ग के अनुसार उनकी एशियाई रैं¨कग निर्धारित करने में सहायता मिलेगी। इस चैंपियनशिप में करीब 261 खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया। स्क्वैश रैकेट फेडरेशन आफ इंडिया व उत्तर प्रदेश स्क्वैश रैकेट एसोसिएशन ने प्रतिस्पर्धा में अच्छे प्रतिभा को तराशने के लिए आयोजित किया था। इस मौके पर एचसीएल व शिव नादर फाउंडेशन के चीफ स्ट्रेटेजी आफिसर सुंदर महा¨लगम, नेशनल स्क्वैश डेवलपमेंट आफिसर हरीश प्रसाद, समेत अन्य लोग मौजूद रहे।

Posted By: Jagran