ग्रेटर नोएडा [अरविंद कुमार मिश्रा]। यमुना प्राधिकरण ने नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के मास्टर प्लान को मंजूरी दे दी है। सीईओ डा. अरुणवीर सिंह की अध्यक्षता में गठित समिति ने सोमवार को मास्टर प्लान पर स्वीकृति की मुहर लगाई। मास्टर प्लान को अब केवल नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लि. (नियाल) बोर्ड की स्वीकृति मिलने की औपचारिकता शेष बची है।

विकासकर्ता कंपनी यमुना इंटरनेशनल एयरपोर्ट लि. ने दिसंबर 2020 में नोएडा एयरपोर्ट मास्टर प्लान सौंपा था। नियाल ने इसे परीक्षण के लिए भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण, नागर विमानन महानिदेशालय, नागर विमानन सुरक्षा ब्यूरो समेत केंद्रीय विभाग को भेजा था। विभागों से मिले सुझावों को सम्मलित करते हुए संशोधित मास्टर प्लान भेजा गया था। इस पर स्वीकृति मिलने के बाद यमुना प्राधिकरण ने भी मास्टर प्लान को अपनी मंजूरी दे दी है।

नोएडा एयरपोर्ट अधिसूचित क्षेत्र में होने के कारण यमुना प्राधिकरण की भवन नियमावली के तहत मास्टर प्लान होना जरूरी है। समिति ने भवन की ऊंचाई, एरिया फ्लोर रेश्यो आदि मानकों को देखते हुए मास्टर प्लान को अपनी मंजूरी दी है। इस मास्टर प्लान को अब मंजूरी के लिए नियाल बोर्ड में रखा जाएगा। इसी माह नियाल बोर्ड से मास्टर प्लान को मंजूरी मिलने की संभावना है।

चारदीवारी व सूचना केंद्र के लिए मिल चुकी है अनुमति

विकासकर्ता को एयरपोर्ट की अधिगृहीत भूमि की चारदीवारी का कार्य शुरू करने एवं सूचना केंद्र बनाने के लिए पहले ही अनुमति दी जा चुकी है। करीब 17 किमी चारदीवारी का निर्माण होगा। सूचना केंद्र में नोएडा एयरपोर्ट के मॉडल समेत परियोजना से जुड़े विभिन्न जानकारी को साझा किया जाएगा। लोग एयरपोर्ट के निर्माण के विभिन्न चरण, मॉडल आदि से रूबरू हो सकेंगे।

नोएडा एयरपोर्ट के मास्टर प्लान को यमुना प्राधिकरण ने स्वीकृति दे दी है। एयरपोर्ट प्राधिकरण के अधिसूचित क्षेत्र में बन रहा है। इसलिए मास्टर प्लान को प्राधिकरण ने अनुमति लेना जरूरी था।

-डा. अरुणवीर सिंह, सीईओ यमुना प्राधिकरण एवं नियाल

Edited By: Mangal Yadav