नोएडा [मोहम्मद बिलाल]। अगर आपको काम से लौटते समय देर हो गई है या रात 10 बजे के बाद आप सार्वजनिक परिवहन अथवा ओला-उबर में सफर करते हुए सहज नहीं महसूस कर रही हैं तो घबराएं मत। बस फोन उठाइए और नोएडा पुलिस की पुलिस रिस्पांस व्हीकल (पीआरवी-112) का नंबर मिला दीजिए। पुलिस मौके पर पहुंचकर आपके सार्वजनिक वाहन व ऑटो टैक्सी के आगे एस्कार्ट का काम करेगी और आपको सही सलामत घर पहुंचाएगी।

जिले में पुलिस कमिश्नरी प्रणाली लागू होने के बाद महिला सुरक्षा की ओर नोएडा पुलिस ने एक कदम और बढ़ाया है। इसके तहत जिले की अलग-अलग कोतवाली क्षेत्र की छह जगहों पर पीआरवी वैन को रात 10 बजे से सुबह 6 बजे के बीच महिलाओं की सुरक्षा के लिए तैनात किया गया है। जिसमें दो महिला हेड कांस्टेबल के साथ एक पुरुष पुलिस कर्मी रहेगा।

जब भी किसी महिला को ड्यूटी के दौरान घर जाने में देर हो गई है या उसे किसी आपातकालीन काम से कहीं जाना पड़ रहा है। लेकिन महिला जिस सार्वजनिक परिवहन व ऑटो-टैक्सी से सफर कर रही है। उसमें पहले से पुरुष यात्री सवार है या महिला को ऑफिस से घर जाते समय डर लग रहा तो वह महिला डायल-112 पर फोन करके पुलिस को बुला सकती है। सूचना मिलने के बाद संबंधित कोतवाली क्षेत्र में मौजूद पीआरवी मौके पर पहुंचेगी। सार्वजनिक वाहन व ऑटो टैक्सी के आगे पुलिस एस्कॉर्ट बनकर चलेगी।

सिर्फ जिले में ही मिलेगी सुविधा

पीआरवी सिर्फ गौतमबुद्धनगर में एस्कार्ट का काम करेगी। महिला गुरूग्राम, गाजियाबाद, फरीदाबाद, हापुड़ दिल्ली जाना चाहती है तो उसे पहले की तरह ही जाना होगा। लेकिन जिले में रहने वाली महिला कहीं भी जा सकती है।

डीसीपी ट्रैफिक व प्रभारी राजेश एस ने बताया कि सरकार ने महिला सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए ही यह महत्वपूर्ण कदम उठाया गया है। महिलाओं से अपील है कि वे पुलिस की इस नई सुविधा का जरूरत के समय ही लाभ ले।

Posted By: Neel Rajput

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस