नोएडा, जागरण संवाददाता। कोरोना महामारी के दौर में किसान, मजदूर और आम आदमी तड़पकर मर रहा है। जनप्रतिनिधि आराम से बैठे हैं। आम आदमी के लिए कोई कदम नहीं उठा रहे हैं। ऑक्सीजन, दवा, अस्पताल और दूसरी सुविधाओं का भारी संकट है। इससे नाराज किसान संगठनों ने बुधवार को बड़ी संख्या में नोएडा कूच करने का एलान किया है। इसमें जनप्रतिनिधियों के घर का घेराव का फैसला किया गया है। यह एलान मेरठ मंडल के अध्यक्ष पवन खटाना, एनसीआर के अध्यक्ष सुभाष चौधरी, गौतमबुद्ध नगर के जिला अध्यक्ष अमित कसाना, नोएडा महानगर अध्यक्ष परविंदर अवाना, एनसीआर के उपाध्यक्ष मटरू नागर और मीडिया प्रभारी सुनील प्रधान ने संयुक्त रूप से जारी किया गया है। पवन खटाना ने कहा कि कोरोना की वजह से किसान, मजदूर और गरीब बगैर आक्सीजन तड़प रहे हैं। जान गंवा रहे हैं। अस्पताल, दवाएं, ऑक्सीजन और वेंटिलेटर उपलब्ध नहीं हैं। इस अव्यवस्था के विरोध में किसान प्रदर्शन करेंगे। करीब दस दिन पहले नोटिस भेज दिया गया था। इन दस दिनों में व्यवस्था सुधारने के लिए कोई कदम नहीं उठाया गया है।

कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच गौतमबुद्धनगर के लोगों के सामने विकट स्थिति बन गई है।  होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों को ऑक्सीजन नहीं मिल रही है। ऐसे में लोगों की जान जाने का खतरा बन गया है हालात खराब होने पर अस्पताल में में बेड नहीं हैं।

सच बात तो यह है कि कोरोना महामारी के चलते जिले में व्यवस्था लगातार बिगड़ती जा रही है। लोगों को ऑक्सीजन गैस नहीं मिल रही है।आक्सीजन सिलेंडर व गैस के लिए लोगों को दिल्ली व गाजियाबाद जाना पड़ता है। जहां निराश लोग घंटो लाइन में लगने के बाद परेशान हाल अपने घर लौट रहे हैं। किसी का पिता घर पर होमआइसोशन में है तो किसी का बेटा बीमार है। कोई भाई के लिए लाइन में लगा है तो कोई अपने पति के प्राण बचाने के लिए ऑक्सीजन गैस के लिए मारीमारी घूम रही है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021