नोएडा, जागरण संवाददाता। यूपी बोर्ड में हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं की तैयारी कर रहे माध्यमिक के छात्र-छात्रओं के लिए जून के पहले सप्ताह के ऑनलाइन परीक्षा शुरू होने वाली है। शिक्षा विभाग की ओर से इसके लिए सामान्य मॉडल प्रश्न पत्र तैयार किया जा रहा है। जिसे स्कूल कक्षा के वाट्सएप ग्रुप पर शेयर करेंगे और तय समय में परीक्षा पूरी कर विद्यार्थी शिक्षकों तक भेजेंगे।

16 मई को हुई परीक्षा में अनुपस्थित रहे 33 फीसद विद्यार्थी भी परीक्षा देंगे। 10वीं और 12वीं के विद्यार्थियों को मॉडल टेस्ट पेपर के माध्यम से तैयारी कराई जा रही है, जिससे पता लग सके कि अबतक की ऑनलाइन शिक्षा का उनपर क्या प्रभाव पड़ा है। शिक्षा विभाग के अधिकारियों का कहना है कि मॉडल टेस्ट पेपर को बोर्ड परीक्षा की नियमावली के अनुसार ही तैयार किया जा रहा है, जिसे बनाने में 6 शिक्षक अपना सहयोग दे रहे हैं।

जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ. नीरज कुमार पाण्डेय ने बताया कि सबसे पहले 16 मई को ऑनलाइन परीक्षा आयोजित की गई थी, जिसमें अनुपस्थित रहे विद्यार्थियों को अनिवार्य रूप से शामिल होना होगा। इससे घरों में हुई पढ़ाई का आकलन किया जा सकेगा। परीक्षा का परिणाम भी छात्र-छात्रओं को हफ्ते भर के भीतर उनके वाट्सएप ग्रुप में भेजा जाएगा। बता दें कि देश में कोरोना वायरस महामारी के चलते बच्चों की परीक्षाएं रद करनी पड़ी थी।

 जानकारी के लिए बता दें कि कोरोना वायरस के कारण यूपी बोर्ड की परीक्षाओं की कॉपी जांचने में देरी हो गई लेकिन,  यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा की 83 प्रतिशत कॉपियां जांची जा चुकी है। सचिव नीना श्रीवास्तव ने बताया कि 23 मई तक की सूचना अनुसार ग्रीन जोन के कुल 20 में से 19 तथा ऑरेंज जोन के 36 में से 19 जिलों में मूल्यांकन कार्य पूरा हो चुका है। इनमें ऑरेंज जोन में पड़ने वाला प्रयागराज भी शामिल है।

Posted By: Ayushi Tyagi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस