नोएडा, जागरण संवाददाता। कानपुर में पुलिस कर्मियों की हत्‍या कर सुर्खियों में आने वाला अपराधी विकास दुबे सरेंडर करने की जुगत में है। फिलहाल मिल रही ताजा जानकारी के अनुसार वह नोएडा की फिल्‍म सिटी में मीडिया के सामने आत्‍मसमर्पण कर सकता है। इसके कारण नोएडा फिल्‍म सिटी के बाहर अचानक से फोर्स की तैनाती कर दी गई है। पुलिस से बचने के लिए वह लगातार अपने जगह को बदल रहा है। कानपुर से क्राइम करने के बाद से वह लगातार अपना ठिकाना बदल रहा है।

नोएडा के पर्थला चौक के पास ऑटो से उतरते देखा गया विकास

ताजा जानकारी के अनुसार विकास दुबे नोएडा के पर्थला गोलचक्‍कर के पास ऑटो में बैठा था। वह ऑटो में बैठे एक-दूसरे शख्‍स से फोन मांगा। युवक ने जब फोन देने से मना कर दिया तो विकास उतर गया। इसके बाद उस युवक ने फेज तीन की कोतवाली पुलिस को सूचना दी। पुलिस युवक से फिलहाल पूछताछ कर रही है। ऑटो के नंबर से खोज जारी है। इधर, डीसीपी सेंट्रल हरीश चंदर का कहना है कि उस ऑटो में विकास था या नही यह वेरिफाई नही हो पाया है।

इससे पहले मंगलवार को वह फरीदाबाद में देखा गया था जिसके बाद वहां पर पुलिस ने छापेमारी की तो वह भागने में सफल रहा, हालांकि उसका एक साथी पुलिस की पकड़ में  आ गया। वह फिलहाल ऐसी संभावना जताई जा रही है कि पुलिस से बचने के लिए मीडिया के सामने आत्‍मसमर्पण कर सकता है।

पहले कोर्ट में सरेंडर करने की थी संभावना

इससे पहले गौतमबुद्ध नगर कोर्ट में समर्पण करने की अटकलों की वजह से पुलिस अलर्ट हो गई थी। बुधवार दोपहर अचानक कोर्ट परिसर के अंदर व बाहर भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती हुई। पुलिस को आशंका थी कि विकास यहां सरेंडर कर सकता है। इसके कारण पुलिस लोगों के मास्क हटाकर चेहरे देखने में जुट गई ताकि किसी प्रकार से वह रुप बदल कर वह अपने प्‍लान में कामयाब ना हो पाए।

बढ़ी इनामी राशि

विकास पर पहले 25 हजार का इनाम था। कानपुर की घटना के बाद पुलिस ने इसके सिर पर इनामी राशि को बढ़ा कर 2.5 लाख रुपये कर दी थी जिसे फिर से बढ़ा कर 5 लाख रुपये कर दिया गया है। वहीं, लखनऊ में एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने पत्रकार वार्ता में कहा कि कानपुर की घटना में जो भी शामिल हैं उनके विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। जिन्होंने भी इस घटना को अंजाम दिया है, उन्हें पछतावा होगा। बता दें कि विकास दुबे के एक साथी अमर दुबे को बुधवार सुबह हमीरपुर जिले में पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया है। मारे गए अमर दुबे के पास से एक अवैध सेमी ऑटोमैटिक पिस्टल मिली है।

Kanpur Encounter Case: दिल्ली-NCR में 3 राज्यों की पुलिस को चकमा दे रहा है 5 लाख का इनामी विकास दुबे

Kanpur Encounter Case: क्या यूपी पुलिस में अब भी मौजूद हैं हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के 'शुभचिंतक'

आखिर दिल्ली में ही क्यों सरेंडर करते हैं UP-बिहार समेत अन्य राज्यों के कुख्यात बदमाश

 

Posted By: Prateek Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस