नोएडा, जेएनएन। छह बिल्डर परियोजनाओं में दिवाली से पहले 2000 से अधिक लोगों को फ्लैट मिल जाएंगे। इन परियोजनाओं को ऑक्यूपेशन सर्टिफिकेट (ओसी) देने की तैयारी नोएडा प्राधिकरण (new okhla industrial development authority) ने शुरू कर दी है। प्राधिकरण अधिकारियों के मुताबिक कई परियोजनाओं में हजारों फ्लैट के लिए सर्टिफिकेट लेने के लिए आवेदन आए हुए हैं। हालांकि इनमें से सिर्फ आधा दर्जन परियोजनाएं ऐसी हैं, जिनमें काम पूरा हो चुका साथ ही सभी मानकों को ये पूरा कर रही हैं।

ऐसी परियोजनाओं में सेक्टर-75 स्थित इंडोसेम, मैक्स बिल्स, एपेक्स के अलावा सेक्टर-46 स्थित एम्स गार्डेनिया व सेक्टर-128 स्थित जेपी अमन परियोजनाएं शामिल हैं। जेपी की परियोजना में करीब 500, एपेक्स में 400, गार्डेनिया में 500 फ्लैट हैं।

दी जा सकती है रजिस्ट्री की अनुमति

अधिकारियों ने बताया कि इन परियोजनाओं को ऑक्यूपेशन सर्टिफिकेट जारी करने के लिए हाल ही में बैठक हुई थी। इसमें बिल्डरों के सर्टिफिकेट के लिए आ रखे आवेदनों की समीक्षा की गई। इसमें तय हुआ कि सिर्फ आधा दर्जन परियोजनाएं ऐसी हैं जिनको सर्टिफिकेट जारी किया जा सकता है।

ऑक्यूपेशन सर्टिफिकेट किया जाएगा जारी

अब अगले सप्ताह से संबंधित परियोजनाओं को ऑक्यूपेशन सर्टिफिकेट जारी करना शुरू कर दिया जाएगा। अधिकारियों का कहना है कि नियम के तहत पैसे जमा होने पर इन परियोजनाओं के बिल्डरों को रजिस्ट्री की भी अनुमति दे दी जाएगी।

फर्जी हस्ताक्षर से 122 फ्लैटों की हुई रजिस्ट्री

उधर, नोएडा प्राधिकरण के अधिकारी के फर्जी हस्ताक्षर कर 122 फ्लैटों की रजिस्ट्री कराने का मामला सामने आया है। यह मामला जून का बताया जा रहा है। फिलहाल प्राधिकरण ने अभी तक इस बारे में कोई आधिकारिक बयान नहीं जारी किया है। मामला सामने आने से फ्लैट खरीददारों में हड़कंप मच गया है।

मनमानी फीस वसूलना 4 प्राइवेट स्कूलों को पड़ा महंगा, लगा 1,75,000 का जुर्माना Noida News

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस