नोएडा, जागरण संवाददाता। 14 जुलाई से शुरू होने जा रही कांवड़ यात्रा के लिए ट्रैफिक पुलिस ने रूट डायवर्जन की तैयारियों को अंजाम देना शुरू कर दिया है। मथुरा, राजस्थान और हरियाणा की तरफ जाने वाले हजारों कांवडि़यों का जत्था गाजियाबाद के रास्ते नोएडा से होकर गुजरेगा। कांवड़ यात्रा के लिए ओखला पक्षी विहार का रूट तय किया गया है।

डीसीपी ट्रैफिक गणेश प्रसाद ने बताया कि नोएडा से मथुरा, राजस्थान और हरियाणा के कांवड़िये कांवड़ लेकर गुजरेंगे, इसलिए इसकी तैयारियां तेजी से चल रही हैं। भारी वाहनों के रूट में बदलाव किया गया है। ट्रैफिक पुलिस की ड्यूटी लगाकर कांवडि़यों को सुरक्षित तरीके से शहर की सीमा पार कराई जाएगी।

नोएडा से होकर जाने वाले अधिकांश कांवड़िये मुख्य रूप से मयूर विहार दिल्ली की ओर से नागार्जुन अपार्टमेंट के सामने चिल्ला रोड लाइन से जिले की सीमा में प्रवेश करते हैं।

यह कांवडि़ये यमुना पुश्ता रोड से पक्षी विहार होते हुए पक्षी विहार गेट से कालिंदी कुंज मार्ग पार कर सड़क किनारे सेक्टर-126 कोतवाली (पूर्व ओखला चौकी) पुल से कालिंदी कुंज सरिता विहार दिल्ली में प्रवेश करते हैं। यातायात पुलिस की ओर से सुरक्षित आवागमन के लिए चिल्ला बार्डर पर दिन-रात दो-तीन पालियों में यातायातकर्मियों की ड्यूटी लगाई जाएगी।

इसी तरह ओखला पक्षी विहार गेट पर दिन रात तीन पालियों में यातायातकर्मियों की ड्यूटी लगाकर और पक्षी विहार गेट से ओखला बैराज पुल तक कांवडि़यों को सकुशल दिल्ली सीमा में प्रवेश कराया जाएगा।

कुछ कांवडि़ये एनएच-9 के रास्ते माडल टाउन, छिजारसी, विजयनगर से गौर सिटी सेक्टर-37 से कालिंदी कुंज में प्रवेश करते हैं। इन मार्गों पर आवश्यकतानुसार ड्यूटी लगाकर सकुशल दिल्ली में प्रवेश कराया जाएगा। ओखला पक्षी विहार के रास्ते कालिंदी कुंज तक कांवडि़यों को सुरक्षित पहुंचाने के लिए लोहे के बैरियर लगाकर अलग कांवड़ पथ बनाया जाएगा।

इस पूरे रास्ते को समतल बनाया जाएगा। कांवडि़यों की सहूलियत के लिए ओखला पक्षी विहार की ओर वाहनों की आवाजाही बंद रहेगी। चिल्ला रेगुलेटर कट से शनि मंदिर होते हुए पक्षी विहार के रास्ते का प्रयोग केवल कांवड़ यात्री करेंगे। इसके अलावा कांवड़ सेवा शिविर के लोगों को वाहन ले जाने की इजाजत होगी।

इन जगह पर होता है जलाभिषेक

ग्रामीण क्षेत्र में जिले में गाजियाबाद से दादरी कोट का पुल, नंगला, फेजलपुर, राजपुर कैला, खेड़ी हाजीपुर, जामगढ़, बिसालपुर, बागपुरा होकर भाईपुरा स्थित शिव मंदिर में पहुंचने वाले कांवडि़ये और बुलंदशहर से झाझर, बागपुर होकर भाईपुरा स्थित शिव मंदिर पहुंचने वाले कांवडि़यों के सुरक्षित आवागमन के लिए यातायात व्यवस्था संबंधित थानों द्वारा अपने-अपने क्षेत्रों में की जाती है।

शहर क्षेत्र के कुछ मंदिरों में जलाभिषेक करने वाले कांवडि़ये गाजियाबाद से छिजारसी, माडल टाउन, एनआबी से सेक्टर-22, सेक्टर-19, सेक्टर-2 स्थित शिव मंदिर पहुंचते हैं। इन जगह पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई जाएगी।

तैयारियों में जुटा-जिला प्रशासन

कोरोना संक्रमण से बचाव के मद्देनजर बीते दो साल से सावन कांवड़ यात्रा पर रोक लगी थी। इस बार कोरोना संक्रमण की रफ्तार थमने पर कांवड़ यात्रा आयोजित होने वाली है। माना जा रहा है कि इस बार बड़ी संख्या में कांवडि़ये यात्रा में शामिल होंगे। इसको लेकर पुलिस-प्रशासन स्तर पर अभी से तैयारी शुरू कर दी गई है। वहीं पुलिस-प्रशासन कांवड़ यात्रा की तैयारियों में जुटा है। शहर सुरक्षा के कड़े इंतजाम होंगे।

Edited By: Geetarjun Gautam