ग्रेटर नोएडा, जागरण संवाददाता। दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्धनगर जिले में एक बेटे द्वारा पिता की हत्या करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। हत्या की वजह भी चौंकाने वाली है। बताया जा रहा है कि पिता अपने बेटे को नपुंसक कहता था, इससे गुस्साए बेटे ने वारदाता को अंजाम दिया।

मिली जानकारी के मुताबिक, दादरी के जारचा कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में शुक्रवार रात एक कलयुगी बेटे ने सोते हुए पिता के सिर पर कुल्हाड़ी मारकर हत्या कर दी। पुलिस जांच में दावा किया गया है कि पिता अपने बेटे को अक्सर नपुंसक कहता था। हत्या करने के बाद आरोपित घोड़ी गांव में एक रिश्तेदार के घर पहुंच गया। शनिवार सुबह घर के सदस्य सोकर उठे तो कमरे में खून से लथपथ शव पड़ा था। पुलिस ने बताया कि जारचा कोतवाली क्षेत्र के कलौंदा गांव में डा. रामभूल पत्नी व दो बेटे अरुण व ललित व अन्य स्वजन के साथ रहते थे।

शुक्रवार को उनकी पत्नी मायके गई थी। रामभूल का बड़ा बेटा अरुण पत्नी व बच्चों के साथ घर की ऊपरी मंजिल पर सो रहा था, जबकि छोटा बेटा ललित उनके साथ सो रहा था। शनिवार सुबह जब अरुण नीचे आया तो पिता का शव खून से लथपथ पड़ा था और ललित घर से गायब था। अरुण ने घटना की सूचना पुलिस को दी।

पिता ने कहा कैसे बढ़ेगा वंश

पुलिस जांच में पता चला है कि पिता अक्सर बेटे से कहता था कि वह नपुंसक है, इससे उसका वंश आगे कैसे बढ़ेगा। पुलिस आरोपित से पूछताछ कर रही है। पुलिस को घटनास्थल से कुल्हाड़ी मिली और ललित मौके से फरार था।

चार साल पहले हुई थी शादी

स्वजन ने बताया कि अरुण व ललित की शादी चार वर्ष पहले अलीगढ़ के एक गांव की रहने वाली पहले दो सगी बहनों से हुई थी। कुछ समय पहले किसी वजह से ललित की पत्नी उसे छोड़कर चली गई थी।

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस