नोएडा [कुंदन तिवारी]। कोरोना काल में भी नोएडा, ग्रेटर नोएडा यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में निवेश जारी है। फिल्म सिटी और नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के निर्माण ने देश-विदेश के निवेशकों को आकर्षित किया है। इस बीच नवीन ओखला औद्योगिक विकास प्राधिकरण (New Okhla Industrial Development Authority) निवेश के लिए प्रयासरत है। इसमें कई नामी कंपनियां निवेश का मन बना चुकी हैं। 2017 से अब तक 854 भूखंड के लिए 14 लाख 45 हजार 724.83 वर्ग मीटर भूमि का आवंटन किया गया है। इससे नोएडा में 5761.84 करोड़ के निवेश की उम्मीद है। इससे लाखों लोगों के लिए रोजगार सृजन होगा।

वहीं, इसी तरह वाणिज्यिक श्रेणी में तीन बड़े भूखंड के आवंटन के माध्यम से 47 हजार 989.97 वर्ग मीटर भूमि आवंटित की गई है, जिससे 767.07 करोड़ का निवेश संभावित है। संस्थागत श्रेणी में 13 संस्थागत भूखंड के लिए 51 हजार 524.49 वर्ग मीटर भूमि का आवंटन किया गया, जिससे 248.76 करोड़ के निवेश की संभावना है। इसी तरह आवासीय उपयोग के लिए 1,270 भूखंड के माध्यम से दो लाख 38 हजार 165.96 वर्ग मीटर भूमि का आवंटन किया गया है, जिससे 920.75 करोड़ का निवेश संभावित है। विभिन्न श्रेणियों में 3,286 आवासीय भवनों के आवंटन के माध्यम से एक लाख दस हजार 589.62 वर्ग मीटर क्षेत्रफल का आवंटन किया गया। जिससे 321.42 करोड़ का निवेश संभावित है।

लैंड बैंक के जरिये विकसित किए जा रहे सेक्टर

जागरण संवाददाता से मिली जानकारी के मुताबिक, नोएडा के सेक्टर-161 162, 163 164 165 व 166 में नियोजित (संस्थागत एवं औद्योगिक), भू-उपयोग के लिए लैंड बैंक विकसित किया जा रहा है। इसके तहत कुल 218.1238 हेक्टेयर भूमि लैंड बैंक के रूप में विकसित की गई है। इसमें मोहियापुर में 71.45, झट्टा 0.247, दोस्तपुर मंगरौली में 6.6520, नलगढ़ा में 44.1422, शाहदरा के 0.6773 हेक्टेयर भूमि को विकसित किया जा रहा है।

बता दें कि गौतमबुद्धनगर के जेवर में बनाए जा रहे नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के निर्माण के चलते जिले में निवेश बढ़ रहा है। इस बीच फिल्म सिटी की परिकल्पना के साकार होने के चरण में आगे बढ़ने से निवेशकों ने रुचि दिखाई है। ऐसे में आने वाले सालों में जिले में हजारों करोड़ रुपये के निवेश की संभावना बन गई है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021