ग्रेटर नोएडा, जागरण संवाददाता। जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के विकास की रूपरेखा तैयार होनी शुरू हो गई है। विकासकर्ता कंपनी ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी के छह सदस्यीय दल ने बुधवार को नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट कंपनी (नियाल) के अधिकारियों के साथ बैठक कर एयरपोर्ट के विकास पर चर्चा की। यमुना प्राधिकरण कार्यालय में हुई बैठक में एयरपोर्ट के मास्टर प्लान के अलावा एसपीवी (स्पेशल परपज व्हीकल) के गठन एवं सिक्योरिटी क्लीयरेंस पर भी विचार विमर्श किया गया। विकासकर्ता कंपनी के अधिकारियों ने जेवर एयरपोर्ट की साइट का भी निरीक्षण किया।

जेवर एयरपोर्ट की अब तक की प्रगति से कराया अवगत

ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी को कंडीशनल लेटर ऑफ अवार्ड मिलने के बाद बुधवार को हुई बैठक में कंपनी अधिकारियों को जेवर एयरपोर्ट की अब तक की प्रगति से अवगत कराया गया। प्रस्तुतीकरण के माध्यम से उन्हें एयरपोर्ट के लिए ली जा चुकीं विभागों की अनापत्ति, जमीन अधिग्रहण के बारे में जानकारी दी गई।

नियाल अधिकारियों ने विकासकर्ता कंपनी को बताया कि एयरपोर्ट के लिए जमीन अधिग्रहण का कार्य लगभग पूरा हो चुका है। विकासकर्ता कंपनी की ओर से बताया गया कि एसपीवी स्पेशल परपज व्हीकल के गठन का कार्य शुरू हो चुका है। जल्द ही इसे अंतिम रूप देकर सिक्योरिटी क्लीयरेंस के लिए आवेदन किया जाएगा। उन्हें बताया गया कि एसपीवी के साथ ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी को भी सिक्योरिटी क्लीयरेंस लेना होगा।

प्राधिकरण कार्यालय में बैठक के दौरान यमुना प्राधिकरण व नियाल के सीईओ डा. अरुणवीर सिंह, उड्डयन विभाग के निदेशक सुरेंद्र सिंह, एसीईओ मोनिका रानी, नियाल के नोडल अफसर शैलेंद्र भाटिया के अलावा ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल के सीईओ स्टीफन विडरिग, मुख्य वित्त अधिकारी लुकस ब्रॉसी, ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल एशिया के सीईओ डेनियल, एमडी एयरपोर्ट ऑपरेशन मार्टिन श्मिडली, उपाध्यक्ष अंतरराष्ट्रीय व्यापार निकोलस शेंक, उपाध्यक्ष व्यापार विकास संदीप मलिक मौजूद थे।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Prateek Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस