नोएडा , पारुल रांझा। ऑनलाइन क्लासेज के हिसाब से शुल्क पुनर्गठन करने की मांग को लेकर शनिवार को अभिभावकों ने जीपीडब्ल्यूएस (गौतमबुद्धनगर पैरेंट्स वेलफेयर सोसायटी) के पदाधिकारियों संग शहर के दो निजी स्कूलों के बाहर प्रदर्शन किया। इस मौके पर अभिभावकों ने स्कूल के सामने मोमबत्ती जलाकर सांकेतिक रोष व्यक्त किया। साथ ही स्कूल मैनेजमेंट की सद्बुद्धि की प्रार्थना की। बच्चों पर मानसिक रूप से बनाया जा रहा दबाव अभिभावकों का आरोप है कि दो निजी स्कूल प्रबंधन द्वारा सरकारी आदेशों के बावजूद फीस के नाम पर बच्चों की आनलाइन शिक्षा पर रोक लगा रखी है।

इसकी लिखित शिकायत राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग, जिला विद्यालय निरीक्षक व जिलाधिकारी से भी की जा चुकी है। अभिभावक सुखपाल ¨सह ने बताया कि एक निजी स्कूल द्वारा पेरेंट्स को पीटीएम में नहीं बुलाया जाता व अन्य कई तरीकों से बच्चों को मानसिक रूप से दबाव बनाया जा रहा है।

जिलाधिकारी आफिस व जिला विद्यालय निरीक्षक ने लिखित आदेश जारी किए हैं, बावजूद इसके कोई हल नहीं निकला। अब मजबूरी में अभिभावकों को प्रदर्शन करना पड़ रहा है। फीस पुनर्गठन के नाम पर स्कूल का रवैया सही नहीं वहीं, अभिभावक अमित ने बताया के उनके बच्चों की भी आनलाइन शिक्षा रोक दी थी। जिला विद्यालय निरीक्षक के लिखित आदेश के बाद क्लासेज शुरू की गई, लेकिन फीस पुनर्गठन के नाम पर स्कूल का रवैया सही नहीं है।

जीपीडब्ल्यूएस के संस्थापक मनोज कटारिया ने बताया कि स्कूल शासन-प्रशासन के उन्हीं आदेशों का पालन करता है, जिसमें उनको लाभ नजर आता है। प्रदर्शन के दौरान कपिल शर्मा, उपाध्यक्ष योगेश व विजय श्रीवास्तव, राज, देवेश, दिनेश, आशु, भावना, गरिमा, सुमेरा, तरुण, गौरव, सैफ आदि मौजूद रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप