नोएडा [प्रवीण विक्रम सिंह]। ग्रेटर नोएडा के रोही गांव में जमीन अधिग्रहण के बाद मुआवजा बढ़ाने की मांग को लेकर धरने पर बैठे किसानों और पुलिस के बीच सोमवार को सुबह संघर्ष हो गया। इसमें कई किसानों और पुलिसकर्मियों के घायल होने की खबर है।

जमीन पर कब्जा लेने गई थी पुलिस, भड़के किसान

मिली जानकारी के मुताबिक, जिला प्रशासन जेवर इंटरनेशनल एयर पोर्ट के निर्माण के लिए जमीन का अधिग्रहण करने गई थी। इस दौरान धरने पर बैठे ग्रामीणों को पुलिस ने उठाने की कोशिश की तो वे भड़क गए और उन्होंने  पुलिस पर पथराव कर दिया। बताया जा रहा है कि ग्रामीणों के पथराव में कई पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। इस पथराव में एसडीएम गुंजा सिंह भी घायल हुए हैं, जिन्हें इलाज के लिए ग्रेटर नोएडा के कैलाश अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अस्पताल के मुताबिक, पथराव के चलते उनके हाथ में चोट आई है।  

डीएम बीएन सिंह ने कहा कि अब तक कुल 7 अधिग्रहण हुए हैं, इन 7 महीनों में एक भी घटना नहीं हुई। इसलिए मेरा मानना ​​है कि लोग स्वेच्छा से भूमि के अपने भूखंड को सौंप रहे हैं। यह एक अपवाद था, पुलिस अपना काम करेगी।

यह है पूरा मामला

बता दें कि जेवर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा (Jewar Inter National Airport) निर्माण के लिए रोही गांव की जमीन भी अधिग्रहित हुई है। बढ़े मुआवजे की मांग को लेकर काफी समय से किसान यहां पर धरने पर बैठे हैं और मुआवजा बढ़ाने की लगातार मांग कर रहे हैं। 

जमीन का कब्जा लेने के दौरान हुआ बवाल

घटनाक्रम के मुताबिक, सोमवार सुबह जिला प्रशासन के अधिकारी भारी पुलिस बल के साथ अधिगृहीत जमीन पर कब्जा लेने के लिए पहुंचे थे। इस दौरान जैसे ही पुलिस बलों ने धरने पर बैठे किसानों को उठाने का प्रयास किया तो वहां मौजूद सैकड़ों किसान भड़क गए और पथराव शुरू कर दिया।

पथराव में प्रशासन अधिकारी व पुलिस के जवान घायल

धरने पर बैठे किसानों ने पथराव के दौरान जमकर नारेबाजी भी। बताया जा रहा है कि उग्र किसानों ने पथराव के दौरान आधा दर्जन गाड़ियों में जमकर तोड़फोड़ की। इसके अलावा, पथराव में वह बस भी क्षतिग्रस्त हो गई, जिस पर सवार हो कर पुलिस के जवान कब्जा हटवाने के लिए गए थे। 

यहां पर बता दें कि देश के बड़े जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का निर्माण यूपी के जेवर क्षेत्र में किया जाना है। इसको लेकर जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया तेजी से की जा रही है। पिछले दिनों  प्रदेश सरकार ने जेवर एयरपोर्ट के लिए स्पेशल परपज व्हीकल के रूप में युमना इंटरनेशनल एयरयपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड का गठन भी किया है। एशिया के दूसरे सबसे बड़े इंटरनेशनल जेवर एयरपोर्ट को विकसित करने के लिए तेजी के साथ शुरू हुआ है। इस एयरपोर्ट के बनने से न केवल जेवर क्षेत्र का विकास बल्कि इसका सकारात्मक असर दिल्ली-एनसीआर के साथ पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 20 से अधिक जिलों पर पड़ेगा। 

दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक 

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस