गाजियाबाद, शाहनवाज अली। उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा है कि जिन कृषि कानूनों को लेकर विपक्ष हल्ला मचा रहा है, वह पूरी तरह किसानों के हित में हैं। उन्होंने आम बजट पर चर्चा करते हुए कहा कि देश के साथ यह उत्तर प्रदेश को विकास की राह पर ले जाने वाला बजट है। इससे प्रदेश में कृषि, स्वास्थ्य, पर्यटन, जल जीवन मिशन से लेकर रोजगार के नए अवसर खुलेंगे। भाजपा आम बजट की खूबियों के बारे में प्रदेश में अभियान चलाकर लोगों को जागरूक कर रही है।

गाजियाबाद में पत्रकारों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि तीनों कृषि कानून केंद्र सरकार द्वारा किसान हित में लाए गए हैं। विपक्ष और उनके साथ मिले कुछ लोग किसानों को गुमराह करने में लगे हैं। आम बजट-2021 में भी किसानों का ख्याल रखा गया है। सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि आम बजट आत्मनिर्भर भारत के सपने को साकार करने वाला है। इसमें शहरी के साथ ग्रामीण क्षेत्र और कृषि से लेकर स्वास्थ्य व उद्योग का भी पूरा ध्यान रखा गया है, जो आमजन से जुड़ा है।

उद्योगों को बढ़ावा मिलेगा तो रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे। इसके लिए नो गारंटी क्रेडिट स्कीम के तहत विभिन्न बैंकों के माध्यम से ऋण दिया जा रहा है। जल जीवन मिशन के तहत शहरी क्षेत्र में प्रदेश की 707 निकायों में 17 निगम, 200 पालिका व 400 नगर पंचायतें लाभांवित होंगी।

स्वास्थ्य विभाग को सु़दृढ़ करने के लिए 39 लैब तैयार की गई व 35 हजार करोड़ रुपये का वैक्सीनेशन के लिए बजट रखा गया है। बजट में पर्यटन के क्षेत्र में अयोध्या में 100 करोड़ रुपये रेलवे स्टेशन के अलावा अन्य स्थानों के लिए योजनाएं हैं। एमएसएमई क्रेडिट गारंटी स्कीम के तहत 43 लाख से अधिक छोटी इकाइयों को लाभ मिला है।

सात लाख 15 हजार इकाइयों की कोरोना संकट काल से स्थापना हुई है, जिससे रोजगार बढ़ा है। इस मौके पर विधान परिषद सदस्य दिनेश गोयल, जिलाध्यक्ष दिनेश सिंघल, महानगर अध्यक्ष संजीव शर्मा, अश्विनी शर्मा, गुंजन शर्मा, विनीत अग्रवाल शारदा, सुशील कुमार गौतम आदि मौजूद रहे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021