जागरण संवाददाता, नोएडा :

बांग्लादेश में हुए अंडर 19 एशिया कप के फाइनल में मैन ऑफ द मैच बनकर देश के साथ शहर का नाम रोशन करने वाले हर्ष त्यागी सोमवार को सेक्टर 34 स्थित बिल्ला बांग स्कूल पहुंचे। यहां उनके साथ शिवम मावी भी मौजूद रहे। इस मौके पर स्कूल में उन्हें सम्मानित किया। साथ ही उन्हें स्कूल प्रबंधन की ओर से 51 हजार रुपये देने की घोषणा की। इस मौके पर दोनों खिलाड़ियों ने एक साथ बिताए पलों को साझा किया। हर्ष ने बताया कि दोनों मैदान में इशारों में ही रणनीति तैयार कर लेते हैं। हर्ष त्यागी ने बताया कि एशिया कप में उनके लिए सबसे मुश्किल मैच बांग्लादेश के साथ रहा। दरअसल होम टाउन होने से उनका उत्साह चरम पर था। दर्शकों का समर्थन भी उन्हीं को था। ऐसे में कहीं न कहीं दबाव हमारी टीम पर था। उस मैच को जीतने के बाद ये तय कर लिया था कि कप हमें ही जीतना है। उन्होंने बताया कि जूनियर टीम में होने के बाद सीनियर के साथ खेलने के दौरान और अधिक सीखने को मिलता है। चूंकि वहां सभी को काफी अनुभव होता है। ऐसे में वहां विकेट छीनना पड़ता है। वहीं जूनियर टीम के मैच के दौरान विकेट मिल जाता है। एक सवाल के जवाब में हर्ष ने कहा कि वह बीमारी की वजह से इंग्लैंड टूर पर नहीं जा सके थे। उस वक्त उन्हें काफी बुरा लगा था, लेकिन माता पिता व कोच के मानसिक सहयोग से वे उभर कर नई ऊर्जा के साथ मैदान पर उतरे। स्कूल के शिक्षकों ने सिर्फ क्रिकेट पर ध्यान देने को कहा। सभी का सहयोग मिलने से मुझें मेहनत करने की ताकत मिली। जिसकी वजह से आज मैं इस मुकाम पर हूं। इस मौके पर मौजूद दोनों खिलाड़ियों के कोच फूलचंद ने कहा कि हर्ष व शिवम दोनों ही बेहतरीन खिलाड़ी हैं। दोनों ही शांत स्वभाव के हैं और काफी फोकस्ड हैं। यही वजह है कि दोनों अपनी कमजोरियों को जल्द दूर कर बेहतर प्रदर्शन करते हैं।

Posted By: Jagran