जागरण संवाददाता, नोएडा : मीट कारोबारी से बुधवार तड़के हुई 2.73 लाख रुपये की लूट का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। कारोबारी से उसके दोस्त इरफान ने अपने मामा और चचेरे भाई के साथ मिलकर लूट को अंजाम दिया था। उसने लूट के लिए मामा को मेरठ से बुलाया था। लूट की योजना उसने मंगलवार देर रात अपनी दुकान पर बनाई थी। वारदात के दिन वह कारोबारी के साथ ई-रिक्शा पर गाजीपुर मुर्गा मंडी मछली खरीदने के बहाने निकला। रास्ते में दोनों को मैसेज कर लोकेशन की जानकारी दी थी। कोतवाली सेक्टर-49 पुलिस ने सेक्टर-112 से दोनों को गिरफ्तार कर लूट की रकम में से दो लाख 38 हजार पांच सौ रुपये बरामद कर लिया है।

क्षेत्राधिकारी तृतीय श्वेताभ पांडेय ने बताया कि सलारपुर निवासी मीट कारोबारी नूर कलीम से नौ जनवरी की सुबह करीब 5.20 बजे लूट हुई थी। वारदात के दौरान कारोबारी के साथ उसका दोस्त इरफान भी था। इरफान उबारपुर हापुड़ का रहने वाला है। वह नाई का काम करता है। उसे पहले से पता था कि कारोबारी मोटी रकम लेकर मंडी जाता है। उसने लूट की योजना में चचेरे भाई राशिद निवासी हापुड़ और मामा यासीन निवासी परीक्षितगढ़ मेरठ को शामिल कर लिया। यासीन लुटेरा है। उसने 2015 में बरेली में साथियों के साथ डकैती डाली थी। इरफान और राशिद आर्थिक तंगी से गुजर रहे हैं। उन्हें पैसों की जरूरत थी। उन्होंने यासीन को योजना में शामिल कर लिया। वारदात के दौरान राशिद बाइक चला रहा था, जबकि याशीन ने तमंचा दिखा कर गोली मारने की धमकी दी थी। तीनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

Posted By: Jagran