जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा : परीचौक स्थित अखिल भारतीय गुर्जर संस्कृति शोध संस्थान में शहर की सबसे बड़ी सार्वजनिक लाइब्रेरी का बृहस्पतिवार को लोकार्पण हुआ। इसमें बतौर मुख्य अतिथि ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण सीईओ नरेंद्र भूषण व यमुना प्राधिकरण सीईओ डाक्टर अरूणवीर सिंह शामिल हुए। दोनों अधिकारियों ने लाइब्रेरी का निरीक्षण कर संस्थान के पदाधिकारियों के कार्य की सराहना की। उन्होंने संस्थान प्रांगण में नवनिर्मित सभागार का भी लोकार्पण किया।

यमुना प्राधिकरण सीईओ डाक्टर अरूणवीर सिंह ने कहा कि शिक्षा से मनुष्य का सर्वागीण विकास होता है। यह लाइब्रेरी आने वाली पीढ़ी के लिए प्रेरणास्त्रोत होगी। सीईओ नरेंद्र भूषण ने कहा कि संस्थान प्रांगण में आने से उन्हें सकारात्मक ऊर्जा मिलती है। शिक्षा ही किसी व्यक्ति की तरक्की और विकास का मूल आधार है। लाइब्रेरी से उन युवाओं को फायदा होगा, जो संसाधनों के अभाव में पढ़ाई और प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी नहीं कर पाते। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि दो सौ गांवों में लाइब्रेरी का निर्माण कराने वाले लाल बहार ने संस्थान में उपस्थित स्कूल एवं कालेजों के छात्र-छात्राओं से अपने अनुभव साझा किए। कार्यक्रम का संचालन संस्थान के अध्यक्ष योगेंद्र चौधरी ने किया। उन्होंने बताया कि विद्यार्थियों के लिए दो अलग-अलग लाइब्रेरी बनाई गई है। लाइब्रेरी का लाभ क्षेत्रीय युवक युवतियों के साथ नालेज पार्क स्थित शिक्षण संस्थानों में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को मिलेगा। लाइब्रेरी की सुविधा 24 घंटे उपलब्ध होगी। विद्यार्थी लाइब्रेरी में अध्ययन कर विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर सकते हैं। इस दौरान संस्थान के संरक्षक पूर्व मंत्री हरीश चंद भाटी, बिजेंद्र सिंह मुंशी, बिजेंद्र भाटी, सतेंद्र नागर, धर्मवीर प्रधान, राजकुमार भाटी, सुभाष भाटी, कालूराम चौधरी, महेश अवाना, शोभाराम भाटी, सुदेश अवाना, रूपचंद मुनीम, केपी सिंह कसाना, देवेंद्र सिंह भाटी, मोनू गुर्जर आदि लोग मौजूद रहे।

Edited By: Jagran