जासं, ग्रेटर नोएडा :

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की ओर से पिछले डेढ़ महीने से गांवों व सेक्टर में फागिग व दवा छिड़काव के दावे के बीच बढ़ते डेंगू के मामले और मौत के आंकड़ों के मामले को दैनिक जागरण ने बृहस्पतिवार को प्रमुखता से प्रकाशित किया था। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण से इस पर संज्ञान लेते हुए बृहस्पतिवार को ही नवादा गांव में दो बडे़ कूड़ादान लगाया और गांव के सभी संभावित स्थानों, नालियां आदि में दवा का छिड़काव व फागिग की।

डेंगू से अस्पतालों के बेड फुल हो रहे हैं। अमूमन सभी गांव व सेक्टर में डेंगू के मामले आ रहे हैं। कुछ गांवों में डेंगू से मौत तक हो गई। ये हाल तब है जब ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण एक सितंबर से फागिग व दवा के छिड़काव का दावा कर रहा है, शिड्युल जारी कर रहा है। डेंगू के कहर को दैनिक जागरण ने प्रमुखता से उठाते हुए प्राधिकरण व स्वास्थ्य विभाग के दावों पर सवाल उठाए थे। इस पर संज्ञान लेते हुए बृहस्पतिवार को प्राधिकरण जनस्वास्थ्य विभाग प्रभारी सलिल यादव ने नवादा गांव में दो बड़े कूड़ादान, कीटनाशक दवा का छिड़काव व फागिग करवाई। कर्मचारियों को सख्त निर्देश दिए कि नियमित तौर पर गांवों व सेक्टर में दवा का छिड़काव व फागिग की जाए। उधर शहर को आठ जोन में बांट कर नोडल अधिकारियों की जिम्मेदारी तय कर संचारी रोग पर रोक लगाने के लिए जारी निर्देश का सख्ती से पालन शुरू हो गया है। अधिकारियों ने कर्मचारियों से दवा छिड़काव व फागिग की प्रतिदिन की रिपोर्ट लेनी शुरू कर दी है।

Edited By: Jagran