जागरण संवाददाता, नोएडा :

राष्ट्रीय राजमार्ग (एनएच-9) पर मॉडल टॉउन के पास चेकिग के दौरान हार्ट अटैक आने के बाद अस्पताल में हुई युवक की मौत मामले में शासन ने जांच कर आरोपित पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। उप सचिव महेंद्र प्रसाद भारती ने गाजियाबाद और गौतमबुद्ध नगर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को पत्र भेज कर जांच कर कार्रवाई से अवगत कराने का निर्देश दिया है।

सेक्टर-52 स्थित शताब्दी विहार निवासी मूलचंद शर्मा 8 सितंबर को अपनी पत्नी व बेटे गौरव शर्मा के साथ कार से इंदिरापुरम, गाजियाबाद में किसी से मिलने जा रहे थे। मूलचंद शर्मा के मुताबिक, सेक्टर-62 अंडरपास के पास यातायात पुलिसकर्मियों ने उनकी कार पर डंडा मार कर उन्हें रोक लिया। उन्होंने डंडे मारने पर पुलिसकर्मियों का विरोध किया। इस पर पुलिसकर्मी उनके साथ बदसलूकी करने लगे, जबकि कार में सवार सभी लोग सीट बेल्ट लगाए थे और सभी कागजात भी मौजूद था। उनका बेटा गौरव गाड़ी के कागजात दिखाने के लिए कार से बाहर आया और सड़क पर गिर गया। बेटे को सड़क पर गिरता देख कर पुलिसकर्मियों ने उनकी मदद नहीं की, बल्कि सभी मौके से भाग गए। उन्होंने बेटे को निजी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। डॉक्टरों ने मौत का कारण हार्ट अटैक बताया है। पिता का आरोप है कि पुलिसकर्मियों के दु‌र्व्यवहार के कारण उनके बेटे को हार्ट अटैक आया। उन्होंने इसकी जांच कर दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर शासन से शिकायत की थी। शुक्रवार को उप सचिव महेंद्र प्रसाद भारती ने गौतमबुद्ध नगर और गाजियाबाद के एसएसपी को जांच कर कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।

----

-युवक की मौत मामले में जांच कर कार्रवाई के संबंध में अभी तक मुझे शासन से कोई निर्देश नहीं मिला है। यह मामला गाजियाबाद जिले से संबंधित है। इसलिए मेरे स्तर से इस मामले की जांच नहीं की जा रही है।

-वैभव कृष्ण, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, गौतमबुद्ध नगर

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप