जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा : कासना कोतवाली क्षेत्र से चार कारोबारी संदिग्ध परिस्थिति में गायब हो गए। इनमें से तीन कारोबारी आपस में रिश्तेदार हैं और साइट पांच में एक फैक्ट्री चलाते हैं। तीनों के गायब होने के पीछे लेनदेन का विवाद बताया जा रहा है। तीनों की अंतिम लोकेशन अलीगढ़ में मिली है। वहीं, क्षेत्र से ही एक व्यापारी भी गायब हो गया है। व्यापारी के परिजन ने अनहोनी की आशंका जताई है। परिवार को एक ईमेल मिला है, जिसमें व्यापारी ने खुद की जीवनलीला समाप्त करने बात कही है। पुलिस गायब हुए चारों की तलाश कर रही है। पुलिस का दावा है कि जल्द ही सभी को बरामद कर लिया जाएगा।

कासना कोतवाली में बुधवार को शिकायत करने पहुंचे नवीन कुमार ने बताया कि शहर की सोसायटी में रहने वाले अमित, उनके जीजा प्रवीण निवासी चिपियाना व हरियाणा के होडल निवासी भांजा अमित साइट पांच में फैक्ट्री चलाते हैं। नौ सितंबर की रात से संदिग्ध हालात में तीनों गायब है। गायब होने से कुछ देर पहले एक कारोबारी की उनके किसी परिचित से फोन पर बात हुई थी। कारोबारियों पर लेनदेन को लेकर कुछ लोगों का दबाव था। इसके चलते अंदेशा है कि इसी दबाव के चलते वह गायब हुए हैं। दस सितंबर को प्रवीण की अंतिम मोबाइल लोकेशन अलीगढ़ में मिली है। उसके बाद से मोबाइल बंद है और किसी ने घर पर कोई संपर्क नहीं किया है। वहीं, गामा दो सेक्टर में रहने वाले कारोबारी विजय मोबाइल चार्जर का काम करते हैं। मंगलवार सुबह साढ़े आठ बजे विजय अपनी पत्नी से दिल्ली के यमुना बैंक जाने की बात कहकर घर से निकले थे। घर से निकलने के बाद उनका मोबाइल स्विच ऑफ हो गया। शार साढ़े चार बजे विजय ने एक पेट्रोल पंप पर ढाई हजार का तेल डलवाया। उसके बाद से वह गायब है। विजय द्वारा एक ईमेल परिजन को किया गया है, जिसमें लिखा है कि वह अच्छा पति, पिता व बेटा नहीं बन पाया, इसलिए जीवन समाप्त कर रहा हूं।

---

गायब चारों व्यक्तियों की तलाश में पुलिस की टीमें लगी हुई हैं। चारों को सकुशल बरामद करने का प्रयास किया जा रहा है। कारोबारियों के गायब होने के पीछे लेनदेन का विवाद प्रकाश में आया है।

- आजाद ¨सह तोमर, कासना कोतवाली प्रभारी

Posted By: Jagran