जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा : कासना कोतवाली पुलिस व बदमाशों के बीच नट की मढ़ैया गांव के पास मुठभेड़ हुई। पुलिस की गोली से एक बदमाश घायल हो गया। बदमाश को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। तीन सप्ताह पूर्व आइएएस अधिकारी के घर हुई चोरी में बदमाश वांछित था। बदमाश के अन्य साथी मौके से फरार हो गए। बदमाश के पास से चोरी का कोई भी सामान पुलिस बरामद नहीं कर सकी।

पुलिस को सूचना मिली कि नट की मढ़ैया गांव के पास कुछ बदमाश घटना को अंजाम देने की फिराक में हैं। मौके पर पहुंची पुलिस को देखकर बदमाशों ने फाय¨रग शुरू कर दी। फाय¨रग करते हुए दो बदमाश मौके से फरार हो गए। एक बदमाश पुलिस की गोली लगने से घायल हो गया। उसे पैर में गोली लगी। इस कारण वह भाग नहीं सका। बदमाश की पहचान पारखी गैंग का सदस्य जितिन उर्फ जतेंद्र के रूप में हुई है। वह मूलरूप से बिल्लाखेड़ी, थाना धरनावदा मध्य प्रदेश का रहने वाला है। जांच में पुलिस को पता चला कि 24 मई को गामा एक सेक्टर में आइएएस अधिकारी विभा चहल के घर में हुई चोरी के मामले में बदमाश वांछित था। अधिकारी के घर से नकदी सहित आठ से दस लाख रुपये की चोरी हुई थी। लेकिन गिरफ्तार बदमाश के पास से पुलिस कोई भी सामान बरामद नहीं कर सकी। बदमाश दिल्ली में ठिकाना बना कर रह रहे थे। आइएएस अधिकारी के घर में हुई चोरी में भी पकड़ा गया बदमाश वांछित था। बदमाश के दूसरे साथियों की तलाश की जा रही है।

अजय शर्मा, एसएसपी

-----------------

संवाद सहयोगी दादरी:

दादरी व सूरजपुर कोतवाली क्षेत्र में बृहस्पतिवार रात हुई मुठभेड़ में घायल व गिरफ्तार बदमाशों को पुलिस ने जेल भेज दिया। दादरी क्षेत्र में घायल बदमाश तीन वर्ष पूर्व हुई भाजपा नेता विजय पंडित हत्याकांड में आरोपित था। जबकि सूरजपुर कोतवाली क्षेत्र में हुई मुठभेड़ में घायल बदमाश नोएडा में हुए अपहरण के मामले में वाछित था।

दादरी में बृहस्पतिवार रात चार बदमाश शाही चिकन कार्नर के मालिक से रंगदारी वसूलने के लिए आए थे। मुखबिर के जरिए पुलिस को मामले की सूचना मिल गई थी। पुलिस को देखकर बदमाशों ने फाय¨रग शुरू कर दी थी। एक मोटर साइकिल पर तीन व दूसरे पर एक बदमाश भाग रहा था। जिस मोटर साइकिल पर तीन बदमाश थे वह एक खाई में गिर गए। उनका दूसरा साथी मोटर साइकिल लेकर भाग गया। खाई में गिरे बदमाशों ने पुलिस पर फाय¨रग कर दी। जवाब में पुलिस ने भी गोली चलाई। जिसमें एक नितिन पैर में गोली लगने से घायल हो गया। वह मूलरूप से हापुड़ के ¨सभावली का रहने वाला है। यह विजय पंडित हत्याकांड में आरोपित था। जमानत पर जेल से बाहर था। पकड़े गए दो अन्य बदमाशों की पहचान बढ़पुरा निवासी विकास व विरेंद्र के रूप में हुई है। बदमाशों के पास से पुलिस को अवैध पिस्टल 32 बोर, चार कारतूस एक चाकू, एक तमंचा व एक मोटर साइकिल मिली है। फरार आरोपी की पहचान देवेंद्र के रूप में हुई है। वह सरकारी जांच एजेंसी में कर्मचारी बताया जा रहा है। वह सुंदर भाटी गैंग के लिए काम करता है। वहीं दूसरी ओर सूरजपुर पुलिस की गोली से घायल बदमाश गजेंद्र फौजी को भी इलाज के बाद पुलिस ने जेल भेज दिया। वह पिछले वर्ष नोएडा के फेज तीन में हुए अपहरण के मामले में वांछित चल रहा था।

----------

मनीष तिवारी

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021