जागरण संवाददाता, नोएडा :

बर्गर ¨कग इंडिया का सेल्स मैनेजर जल्द अमीर बनने की चाहत में साइबर ठगों के गैंग में शामिल हो गया था। दिसंबर 2018 में मैनेजर सुमित कुमार की जीआइपी मॉल में ही साइबर ठग सॉफ्टवेयर इंजीनियर राहुल से मुलाकात हुई थी। उनके बीच में जल्द दोस्ती हो गई। राहुल ने डेबिट कार्ड का डेटा कॉपी करने के लिए हर महीने मोटी रकम देने का लालच दिया था। मैनेजर सुमित भी घर की माली हालत और तीन बहनों की शादी धूमधाम से करने की लालच में आकर उसके साथ मिल गया। इसके बाद राहुल के दिए स्कीमर डिवाइस की मदद से रेस्त्रां में ग्राहकों के डेबिट कार्ड की डिटेल कॉपी कर उसे बेचने लगा। इस डिटेल को लेकर राहुल कंप्यूटर की मदद से कार्ड क्लोन कर रुपये निकाल लेता था।

जांच अधिकारी एसआइ जेएस तोमर ने बताया कि आरोपित की बड़ी बहन की आठ मार्च को शादी है। शादी की तैयारियों की जिम्मेदारी उस पर ही थी। वह शादी धूमधाम से करना चाहता था। कंपनी जांच में करेगी सहयोग:

जीआइपी मॉल, नोएडा में हमारे रेस्त्रां में कार्यरत कर्मचारी सुमित धोखाधड़ी के मामले में शामिल पाया गया है। इसकी शिकायत मिलने के तुरंत बाद हमने कार्रवाई करते हुए पुलिस से शिकायत की थी। फिलहाल, आरोपित पुलिस की हिरासत में है। कंपनी पुलिस अधिकारियों का सहयोग करने के लिए तैयार है। इस मामले में आने वाले विभिन्न मुद्दों को सुलझाने के लिए कंपनी प्रतिबद्ध है।

-प्रवक्ता, बर्गर ¨कग इंडिया, मुम्बई

---

पुलिस ने डिजिटल लेनदेन संभल कर इस्तेमाल करने की अपील

शहर में कार्ड क्लोन कर खाते से रुपये निकालने की शिकायत लगातार बढ़ रही है। पुलिस का कहना है कि डिजिटल खरीदारी के चलते इस तरह की शिकायतें बढ़ी हैं। लोग पेट्रोल पंप, दुकान और अन्य स्थानों पर डेबिट या क्रेडिट कार्ड के जरिये धड़ल्ले से खरीदारी कर रहे हैं। इस दौरान लोगों को सचेत रहने की जरूरत है। जरा सी लापरवाही होने पर साइबर ठग उनके कार्ड की डिटेल प्राप्त कर क्लोन कर ले रहे हैं। शहर के विभिन्न कोतवाली प्रतिदिन कार्ड क्लोन से संबंधित 10 से 15 शिकायतें आ रही हैं। पुलिस ने लोगों को डेबिट या क्रेडिट कार्ड को संभल कर इस्तेमाल करने की अपील की है।

Posted By: Jagran