प्रवीण विक्रम सिंह, ग्रेटर नोएडा : बीटा दो कोतवाली क्षेत्र से पकड़े गए वाहन चोरी के आरोपित बहुत शातिर हैं। चोरी के वाहन को टोल पार कराने के दौरान आरोपित सड़क पर भीख मांगने वाले बच्चों व महिलाओं को गाड़ी में बैठा लेते थे, जिससे कि लोगों को यह लगे कि गाड़ी में परिवार के सदस्य बैठ कर जा रहे हैं। टोल पर पहुंचने से पहले गाड़ी पर फर्जी नंबर प्लेट लगा ली जाती थी। आरोपितों ने तीन साल में चोरी का दोहरा शतक लगा दिया है। पुलिस उनको रिमांड पर लेकर भी पूछताछ कर सकती है।

पुलिस जांच में पता चला है कि आरोपित लखनऊ से जिन वाहनों को चुराते थे उनको लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे के रास्ते लाते थे। आगरा में एक्सप्रेस-वे से उतरते ही वह ग्वालियर को रूट पकड़ लेते थे। रास्ते में यदि उनको कहीं पुलिस जांच के लिए रोकती थी तो वह यह कहकर निकल जाते थे बच्चों व महिलाओं को उनके घर छोड़ने के लिए जा रहे हैं। महिला को पांच सौ रुपये व बच्चों को दो सौ रुपये इसके एवज में दिए जाते थे। पुलिस जांच में महिला व बच्चा कोई मुंह नहीं खोलता था।

---

साइट पांच में बढ़ रही आपराधिक वारदात

कासना कोतवाली क्षेत्र के औद्योगिक साइट पांच में आपराधिक वारदात लगातार बढ़ रही हैं। पूर्व में जहरीली शराब कांड के आरोपित ने यहीं गोदाम बनाया हुआ था। गोदाम से दो लोगों के शव भी मिले थे जिनकी मौत जहरीली शराब पीने से हुई थी। अब चोरी के वाहनों का गोदाम भी साइट पांच में मिला है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप