जागरण संवाददाता, नोएडा :सेक्टर-11 स्थित निर्माणाधीन फैक्ट्री में हादसे के बाद प्राधिकरण का औद्योगिक विभाग हरकत में आ गया है। सोमवार को फैक्ट्री के बाहर नोटिस चस्पा कर दिया गया। इसमें अवैध निर्माण को हादसे की वजह बताया गया है। प्राधिकरण ने फैक्ट्री मालिक को नोटिस का जवाब देने के लिए सात दिन का समय दिया है। इसके बाद आवंटी की जमा धनराशि को जब्त कर भूखंड का आवंटन निरस्त करने की कार्रवाई का जिक्र नोटिस में किया गया है।

औद्योगिक विभाग ओएसडी डॉ. अविनाश त्रिपाठी की ओर से जारी नोटिस में 31 जुलाई की शाम हुए हादसे की वजह बिना नक्शा पास कराए अवैध निर्माण कराया जाना बताया है। स्थलीय निरीक्षण के दौरान पाया गया कि आवंटी को भूतल पर 213.75 वर्गमीटर क्षेत्रफल पर निर्माण अनुमन्य है, लेकिन अगले व पिछले सेटबैक में लगभग 390 वर्गमीटर क्षेत्रफल में निर्माण पाया गया। प्रथम तल पर 213.75 वर्ग मीटर क्षेत्रफल पर निर्माण अनुमन्य था, लेकिन आवंटी ने 280 वर्गमीटर हिस्से पर निर्माण किया। ऐसे में स्पष्ट संकेत मिले हैं कि नियमों व शर्तों का उल्लंघन करते हुए नया निर्माण कार्य किया जा रहा था। अगले हिस्से में अवैध निर्माण के कारण हादसे में पांच लोग घायल होने का उल्लेख नोटिस में किया गया है, जिनमें से दो की मौत हो गई। प्राधिकरण ने इसे बड़ी दुर्घटना व जनहानि बताते हुए आवंटी को इसके लिए जिम्मेदार बताया है। नोटिस के मार्फत सात दिन का समय देते हुए प्राधिकरण ने आवंटी से जवाब तलब किया है कि ''क्यों न उत्तर प्रदेश औद्योगिक विकास अधिनियम 1976 की धारा-14 के अंतर्गत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए भूखंड संख्या एफ-62/11 का आवंटन निरस्त कर नियमानुसार समस्त जमा धनराशि जब्त करते हुए कब्जा वापस ले लिया जाए।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप