जागरण संवाददाता, नोएडा :

जिले के निवासियों को लंबे इंतजार के बाद पिछले 1 अप्रैल 2019 से पहले निर्मित हुए वाहनों की पिछले सप्ताह हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगाने की सुविधा शुरू की गई थी। लेकिन एक सप्ताह बीतने के बाद भी सिर्फ तीन वाहन कंपनियों के डीलरों ने इसकी शुरुआत की है। ऐसे में अन्य कार कंपनियों के वाहन स्वामी परेशान हैं। उधर परिवहन विभाग का कहना है नंबर प्लेट बनाने का जिम्मा वाहन डीलर का है हालांकि अगले 10 दिन में नई व्यवस्था पूरी तरह से लागू हो जाएगी।

परिवहन आयुक्त उत्तर प्रदेश ने एक जनवरी से पुराने वाहनों के लिए हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट (एचएसएनपी) लगाने के निर्देश जारी किए थे। इसी के तहत पिछले सप्ताह नोएडा परिवहन कार्यालय की ओर से भी पुराने वाहनों में एचएसएनपी लगाने के लिए ऑनलाइन की सुविधा शुरू कर दी गई थी। निजी कंपनी ढ्डश्रश्रद्मद्व4द्धह्यह्मश्च.ष्श्रद्व की ओर से ये सुविधा शुरू की गई थी। दावा किया गया था दो से तीन दिन में सभी वाहन डीलर ऑनलाइन दिखने लगेंगे। दो पहिया वाहनों के लिए 300-350 रुपये व चार पहिया वाहनों के लिए 634 रुपये के करीब शुल्क निर्धारित किया गया था। इसके तहत वेबसाइट पर संबंधित वाहन डीलर का चयन कर वहां से तारीख एलॉट कराने के बाद नंबर प्लेट ली जा सकेगी। इस वेबसाइट पर वाहन निर्माता कंपनी के नाम लिखे होंगे। उन पर क्लिक कर वाहन के कागजों की पूरी जानकारी व वाहन स्वामी की पूरी जानकारी देनी होगी।

एक सप्ताह बाद नोएडा की सिर्फ तीन कार कंपनियों के डीलरों के नाम दिख रहे हैं। इनमें हुंडई, मारुति व टोयोटा शामिल हैं। कीया, निसान, ऑडी, फोर्ड, फिएट, होंडा के डीलर नहीं दिख रहे हैं। इससे इन कंपनियों के वाहन खरीदारों को नंबर प्लेट बनवाने में परेशानी हो रही है।

---------

नंबर प्लेट बनाने की जिम्मेदारी पूरी तरह से डीलरों की है। हालांकि ऑनलाइन सुविधा शुरू करने वाले कंपनी व वाहन डीलरों को नई व्यवस्था शुरू करने के निर्देश दिए हैं। अगले 10 दिनों में सभी डीलर सुविधा देनी शुरू कर देंगे।

- एके पांडे, एआरटीओ प्रशासन

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस