संवाददाता, ग्रेटर नोएडा : दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) ने बुधवार को नोएडा-ग्रेटर नोएडा मेट्रो रेल के लिए दूसरी डिटेल प्रोजक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) प्राधिकरण को सौंपी। इस रिपोर्ट के अनुसार, परी चौक तक मेट्रो लाने के खर्च में पांच सौ करोड़ रुपये का इजाफा हो गया है। डीएमआरसी ने पहली डीपीआर अप्रैल 2011 में प्राधिकरण को सौंपी थी। इसमें नोएडा से परीचौक तक मेट्रो रेल लाने का खर्च पांच हजार करोड़ रुपये आंका गया था। सूत्रों के मुताबिक, अप्रैल 2013 तक मेट्रो रेल के निर्माण का काम शुरू होने की संभावना है।

ग्रेटर नोएडा तक मेट्रो लाने की लंबे समय से कवायद चल रही है। नोएडा सिटी सेंटर से सेक्टर-82, नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे के किनारे होकर मेट्रो रेल का परीचौक तक निर्माण प्रस्तावित है। इसके निर्माण के लिए प्राधिकरण ने डीएमआरसी से विस्तृत प्रोजेक्ट रिपोर्ट मांगी थी। डीएमआरसी ने अप्रैल, 2011 में प्राधिकरण को पहली डीपीआर सौंप दी। इसके अनुसार, परी चौक तक मेट्रो के निर्माण में 5,000 करोड़ रुपए का खर्च आंका गया था, लेकिन आर्थिक तंगी के कारण प्राधिकरण इस प्रोजेक्ट को हरी झंडी नहीं दे पाया। अब शहर के विकास की गति तेज करने के लिए प्राधिकरण मेट्रो के निर्माण को लेकर संजीदा हो गया है। प्राधिकरण ने डीएमआरसी से दोबारा डीपीआर तैयार करने को कहा था। डीएमआरसी ने बुधवार को नई डीपीआर प्राधिकरण को सौंप दी। नई डीपीआर के अनुसार, परी चौक तक मेट्रो के निर्माण का खर्च 500 करोड़ रुपए बढ़ गया है। आधिकरिक सूत्रों ने बताया कि डीएमआरसी की नई रिपोर्ट मिल गई है। जल्द ही इस पर काम शुरू हो जाएगा। नए वित्तिय वर्ष से इस महत्वाकांक्षी परियोजना के शुरू हो जाने की संभावना है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर