संवाददाता, ग्रेटर नोएडा : राजस्थान में छह वर्ष पहले हुए गुर्जर आंदोलन को लोग शीघ्र फिल्मी पर्दे पर देख सकेंगे। आंदोलन में 74 निर्दोष लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी थी। इसके विरोध में कई दिनों तक एनसीआर में भी जगह-जगह धरने-प्रदर्शन हुए थे। दादरी के दुजाना गांव के रहने वाले टीवी कलाकार अरुण नागर ने गुर्जर आंदोलन पर हक की लड़ाई फिल्म बनाई है। इसकी नब्बे फीसद शूटिंग पूरी हो चुकी है। शेष फिल्म की शूटिंग जनवरी के दूसरे सप्ताह तक पूरी हो जाएगी। मार्च 2014 में फिल्म देश के साढ़े तीन सौ सिनेमा घरों पर एक साथ रिलीज होगी।

राजस्थान में आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जरों ने 2007 में आंदोलन किया था। गुर्जर घरों से निकलकर पीपल खेड़ा गांव के नजदीक ट्रेन की पटरियों पर बैठ गए थे। पुलिस को उन्हें पटरियों से हटाने के लिए गोली चलानी पड़ी। घटना में 74 लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा था। दुजाना गांव के अरुण नागर मुंबई में रहते हैं और वहां टीवी नाटकों में काम करते हैं। वह यश चोपड़ा के किश्मत, खोटे सिक्के व काली, ढूंढ लेगी मंजिल आदि नाटकों में काम कर चुके हैं। दैनिक जागरण से विशेष बातचीत में उन्होंने बताया कि नाटक में काम करते समय ही उन्हें राजस्थान गुर्जर आंदोलन पर फिल्म बनाने का ख्याल आया। अरुण फिल्म में मुख्य कलाकार की भूमिका में है। फिल्म में नामी कलाकार सुरेंद्र पाल, मुश्ताक खान, एहसान खान, अली खान आदि भी नजर आएंगे। फिल्म में लीना कपूर का आइटम सांग भी रखा गया है। इसकी ज्यादातर शूटिंग राजस्थान में हुई है। ग्रेटर नोएडा के घंघोला और दुजाना गांव में भी इसकी शूटिंग हुई। शेष शूटिंग घंघोला गांव में होगी।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट