जेएनएन, मुजफ्फरनगर। भोपा के रसूलपुर गांव स्थित विद्युत उपसंस्थान के भवन की छत जर्जर होने से बारिश में टपकने लगी। पानी घुसने से दो पावर केबल बाक्स जल गए हैं। बीते 48 घंटे से आधा दर्जन गांवों की विद्युत आपूर्ति ठप होने से ग्रामीणों में रोष है। नलकूप व पावर चारा मशीन बंद होने से किसानों और परीक्षा के चलते छात्र-छात्राओं को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

रसूलपुर गांव स्थित विद्युत उपसंस्थान की बिल्डिग जर्जर व पुरानी है। बीते मंगलवार को हुई बारिश में बिजलीघर की छत टपकने लगी और पानी पावर केबल बाक्स में गिरा, जिससे बाक्स में आग लग गई। इसके चलते गादला, नन्हेड़ा, शाहदरा, बरूकी, रसूलपुर व कसौली समेत आधा दर्जन गांवों की विद्युत आपूर्ति ठप हो गई। निकासी न होने से पानी परिसर में भर गया। प्रधान आदेश कुमार, पूर्व प्रधान मदन पाल, वीरेश त्यागी, दारा सिंह, घनश्याम नायक, सतबीर, चौधरी पवन सिंह व चौधरी यशपाल सिंह आदि ने बताया कि विद्युत आपूर्ति 48 घंटे से बंद है, जिसके चलते पावर चारा मशीन व पंप आदि बंद होने से भारी परेशानी हो रहा है। सब-स्टेशन आपरेटर अमरदीप ने बताया कि बारिश में पानी गिरने से दो पावर केबल बाक्स में आग लग गई थी, जिन्हें ठीक किया जा रहा है।

करंट की चपेट में आने से किसान की मौत

जेएनएन, मुजफ्फरनगर। शहर कोतवाली क्षेत्र के बामनहेड़ी गांव में करंट की चपेट में आने से किसान की मौत हो गई। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

बामनहेड़ी निवासी किसान जयचंद गुरुवार को खेत पर गया था। उसी समय वह ट्यूबवेल पर पानी पीने लगा। पानी पीते समय नल में करंट आने से वह चपेट में आ गया। मौके पर ही उसने दम तोड़ दिया। आसपास खेत में काम कर रहे किसानों ने उसके घर जानकारी दी। स्वजन घटनास्थल पर पहुंचे और पुलिस को सूचना दी। मृतक के भाई ने कोतवाली में इत्तफाकिया तहरीर दी है।

Edited By: Jagran