मुजफ्फरनगर, जेएनएन। मीरापुर कस्बे के पड़ाव चौक पर हो रहा जलभराव लोगों को तालाब के बीच सड़क होने का एहसास करा रहा है। गंदे पानी के बीच से गुजरने वाले लोगों के पैरों में बीमारी फैलने की आशंका बन गई है।

नगर पंचायत मीरापुर में पिछले कई वर्षो से जलभराव की समस्या बनी हुई है। कोई भी चेयरमैन जलभराव की समस्या का समाधान नहीं कर सका है। हर योजना में लाखों रुपये तालाबों की सफाई में बंदरबाट कर दिए जाते हैं। लेकिन उससे भी जल निकासी का समाधान नही हो पा रहा है। फिलहाल कस्बे में सड़कों पर भरे हुए पानी को देखकर लोग यह तक कह रहे हैं कि नगर पंचायत को यहां पर मछली छोड़ देनी चाहिए, जिससे नगर पंचायत की आय में वृद्धि होगी। कस्बे में रविवार की सुबह हुई बारिश के बाद मुख्य मार्ग पर गंदा पानी भरा हुआ है। पड़ाव चौक तथा वाल्मीकि बस्ती में लोगों के घरों में गंदा पानी भर गया है। लोगों को मंदिर जाने के लिए भी गंदे पानी के बीच से होकर जाना पड़ रहा है। यहां रहने वाले सुनील चंचल, सोनू शील, पारस वाल्मीकि, नरेश, योगेश, सवित शीज, सरजू, पप्पी, ब्रहमप्रकाश आदि का आरोप है कि बारिश के बाद पड़ाव चौक में जलभराव होने के बाद गंदा पानी उनके मोहल्ले में भर जाता है। नगर पंचायत द्वारा गंदे पानी की निकासी के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाए जा रहे हैं। गंदे पानी से गुजरने के कारण लोगों के पैरों में बीमारी फैलनी शुरू हो गई हैं। जलभराव की समस्या से नागरिकों में भारी रोष पनप रहा है।

Edited By: Jagran