मुजफ्फरनगर, जेएनएन। 2 जुलाई को पेशी से मिर्जापुर जेल के लिए पुलिस कस्टडी में लौट रहे गांव जोहरा निवासी रोहित उर्फ सांडू को छुड़ाने की आपराधिक साजिश रचने वाले बदमाश व 50000 के इनामी विक्‍की राठी ने शुक्रवार को एसएसपी ऑफिस जाकर आत्मसमर्पण कर दिया, जिसे पूछताछ के लिए स्वाट टीम को सौंप दिया गया।

यह है मामला

2 जुलाई को पेशी से लौट रहे थाना मंसूरपुर क्षेत्र के गांव जोरा निवासी बदमाश रोहित उर्फ सांडू को बदमाशों ने दारोगा को गोली मारकर पुलिस कस्टडी से छुड़ा लिया था। घटना के 2 सप्ताह बाद पुलिस ने एक लाख के इनामी रोहित व उसके साथी 50000 के इनामी जनपद अयोध्या निवासी राकेश यादव के साथ पुलिस मुठभेड़ में थाना नई मंडी कोतवाली क्षेत्र में मार गिराया था। पुलिस ने इससे पहले सांडू को कस्टडी से छुड़ाने की आपराधिक साजिश रचने में शामिल कुख्यात 25,000 इनामी बदमाश भूपेंद्र बाफर सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया था। जिसके बाद पुलिस सांडू को कस्टडी से छुड़ाने की आपराधिक साजिश रचने में वांछित चल रहे 50000 का इनामी बदमाश विकी निवासी पीलोना थाना फलावदा जनपद मेरठ व 25000 का इनामी बदमाश श्रवण निवासी पिथौरा सुरूरपुर मेरठ की तलाश में जुटी थी। शुक्रवार को 50000 इनामी विक्की ने एसएसपी अभिषेक यादव के कार्यालय में पहुंचकर आत्मसमर्पण कर दिया। जिसे हिरासत में ले लिया गया। जबकि 25000 के इनामी वांछित अपराधी श्रवण ने शुक्रवार को ही न्यायालय में आत्म समर्पण कर दिया। 

Posted By: Taruna Tayal