मुजफ्फरनगर, जागरण संवाददाता। फर्जी कागजात के आधार पर सेना में भर्ती होने का प्रयास कर रहे एक युवक समेत दो आरोपितों को आर्मी इंटेलीजेंस की सूचना पर पुलिस ने दबोच लिया। एक आरोपित वर्ष 2019 में फर्जी कागजात के आधार पर सेना में भर्ती हो गया था, जब सेना ने कागजों का सत्यापन कराया तो वह ट्रेनिंग छोड़कर भाग आया था। अब फिर से वह फर्जी कागजात के सहारे भर्ती होने का प्रयास कर रहा था।

आर्मी इंटेलीजेंस की सूचना पर पकड़ा 

बुधवार तड़के आर्मी इंटेलीजेंस की सूचना पर सिविल लाइंस पुलिस ने नुमाइश कैंप गेट नंबर दो के पास से दो युवकों को दबोच लिया। पूछताछ में दोनों ने अपने नाम कमल सिंह पुत्र बिशम्बर दयाल निवासी ढकरौली गांव थाना खानपुर जिला बुलंदशहर और महकार सिंह पुत्र तुल्लाराम निवासी सी-512 वेदव्यासपुरी थाना टीपी नगर जिला मेरठ बताए। पुलिस ने कमल सिंह से अंकित नाम का एक फर्जी एडमिट कार्ड भी बरामद किया है।

आरोपितों के पास एक और एडमिट कार्ड मिला

इस एडमिट कार्ड के सहारे वह गुरुवार को मुजफ्फरनगर जिले की होने वाली भर्ती में शामिल होने का प्रयास कर रहा था। इसके अलावा आरोपितों के पास एक एडमिट कार्ड ओर मिला है, जिस पर जैनेन्द्र कुमार पुत्र हरेन्द्र सिंह निवासी सुशीला बिहार द्वितीय जिला बुलंदशहर और करण कुमार पुत्र हरेंद्र सिंह निवासी नाजीमपुरा जिला बुलंदशहर का आधार कार्ड, करण कुमार के नाम की मार्कशीट, मूल निवास प्रमाण पत्र और एक मोबाइल भी मिला है। 

ट्रेनिंग छोड़कर भाग आया आरोपित कमल

एसपी सिटी अर्पित विजयवर्गीय ने बताया कि आरोपित कमल फर्जी कागजात के आधार पर वर्ष 2019 में सेना में भर्ती हो गया था और ट्रेनिंग पर भी चला गया था, जब सेना ने कागजों का सत्यापन कराया तो वह ट्रेनिंग छोड़कर भाग आया था। दूसरे आरोपित महकार ने उसे फर्जी कागजात बनाकर दिए थे।

- - - - - - - - 

कई मामलों में वांछित गिरफ्तार

मुजफ्फरनगर, जागरण संवाददाता। छपार क्षेत्र के गांव खामपुर की नई बस्ती निवासी जीशान पुत्र इस्लाम गोकुशी व जान से मारने के प्रयास आदि मामलों में वांछित चल रहा था। बुधवार को बरला चौकी प्रभारी मानवेन्द्र भाटी ने जीशान को गिरफ्तार कर लिया। 

Edited By: Parveen Vashishta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट