मुजफ्फरनगर : इंस्टीट्यूट में अप्रैल में भी एक कार्यक्रम के दौरान मारपीट हुई थी, जिसमें कई छात्र घायल हो गए थे। बिजनौर के एक बड़े अधिकारी के यहां नौकरी कर रहे एक व्यक्ति के बेटे ने अपना रसूख दिखाकर मामले में समझौता करा दिया था। इससे आरोपित छात्रों का दुस्साहस बढ़ गया। छात्रों ने बताया कि संस्थान प्रबंधन ने सुरक्षा के लिए न तो गार्ड तैनात कर रखे हैं और न ही परिसर में सीसीटीवी कैमरे हैं। निदेशक राघव मेहरा का कहना है कि परिसर के अंदर सीसीटीवी कैमरे हैं, बाहर भी लगवाए जाएंगे। संस्थान में नौ सिक्योरिटी गार्ड हैं। जहां से हमलावर घुसे, वहां उस समय गार्ड नहीं था।

Edited By: Jagran