मुजफ्फरनगर : जनपद के छह सरकारी विद्यालयों में स्मार्ट क्लास का प्रोजेक्ट पास हुआ है। भारत पेट्रोलियम ने स्मार्ट क्लास के लिए 26 लाख रुपये स्वीकृत किए हैं। इस धनराशि से विद्यालयों में कंप्यूटर, प्रोजेक्टर, किताब और फर्नीचर की व्यवस्था होगी। मार्च माह में 10 ¨बदुओं पर कार्य शुरू होगा। बीएसए ने करार को लेकर शासन को पत्र भेजा गया है।

प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों की दशा सुधारने को नई पहल शुरू हुई है। जनपद के छह विद्यालयों में नामचीन पब्लिक स्कूलों की तर्ज पर स्मार्ट क्लास शुरू की जाएंगी। इसके लिए भारत पेट्रोलियम के साथ बेसिक शिक्षा विभाग का करार हुआ है। भारत पेट्रोलियम ने छह विद्यालयों में स्मार्ट क्लास के लिए 26 लाख रुपये स्वीकृत किए गए हैं। इन स्कूलों में विशेष कंप्यूटर कक्ष बनेंगे, जिसमें छात्रों के लिए कंप्यूटर, प्रोजेक्टर, किताब, फर्नीचर व लाइ¨टग आदि की व्यवस्था रहेगी। स्कूलों में 10 ¨बदुओं पर कार्य होगा। संपूर्ण कार्य भारत पेट्रोलियम की ओर से कराई जाएगी। भारत पेट्रोलियम के अधिकारियों ने बीएसए से इसके लिए लिखित में करार किया है। सीडीओ अर्चना वर्मा ने बीते दिनों इसके लिए प्रक्रिया शुरू की थी। उन्होंने भारत पेट्रोलियम के अधिकारियों से जनपद में बुलाया था। इन्होंने कहा..

'नए शिक्षण सत्र से जनपद के छह विद्यालयों में स्मार्ट क्लास शुरू की जाएंगी। इसके लिए भारत पेट्रोलियम के साथ बेसिक शिक्षा विभाग का करार हुआ है। धनराशि स्वीकृत हो गई है।'

- योगेश कुमार, प्रभारी बीएसए इन विद्यालयों में लगेगी स्मार्ट क्लास :

- प्राथमिक विद्यालय ककराला-खतौली।

- उच्च प्राथमिक विद्यालय लोहड्डा-खतौली।

- प्राथमिक विद्यालय भैंसी-द्वितीय-खतौली।

- उच्च प्राथमिक विद्यालय शेरनगर-सदर।

- प्राथमिक विद्यालय धनेड़ा-सदर।

- प्राथमिक विद्यालय कूकड़ा-सदर।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप