जेएनएन, मुजफ्फरनगर। पुरकाजी में लाकडाउन को लेकर कोरोना वायरस के संक्रमण का डर तो लोगों के बीच नजर आता है, लेकिन रोजी-रोटी चलाने के चलते सारे नियम ताक पर नजर आते हैं। कस्बे व क्षेत्र में लाकडाउन के दौरान प्रतिष्ठानों की बंदी नाममात्र की नजर आती है। भीड़ हटाने और बाजार बंद कराने को लेकर पुलिस पूरा दिन दौड़ती रहती है। कोविड-19 की दूसरी लहर ने लोगों के सामने कई तरह का संकट खड़ा कर दिया है। गत वर्ष लगाए गए लाकडाउन से हुए आर्थिक नुकसान से लोग अभी पूरी तरह से उबरे भी नहीं थे कि कोरोना की दूसरी लहर ने खतरनाक तरीके से दस्तक दे दी। लोगों की जान पर बनी तो सरकार ने फिर से लाकडाउन लगा दिया। ऐसे में पहले से ही काम-धंधे की टूट में चल रहे व्यापारी बहुत परेशान हैं। काम करने के नए-नए तरीके निकाले जा रहे हैं। बाहर से शटर बंद कर दुकान के भीतर चुपचाप धंधा किया जा रहा है। कुछ व्यापारी पूरे काम को घर उठाकर ले गए और वहीं से डीलिग कर रहे हैं। बाहर से बंद बाजार में भीतर पूरा काम चालू है। भीड़ की बात करें तो वह सड़क पर पूरी नजर आ रही है। डाक्टर, मेडिकल स्टोर, पेस्टीसाइड, दूध, फल, सब्जी, खेत व बाग आदि जगहों पर जाने का बहाना कर लोग सड़कों पर घूमते नजर आ रहे हैं। पुलिस लोगों की जमकर खबर भी ले रहीं है, लेकिन पुलिस को देख सब छिप जाते है, लेकिन सिपाहियों के लौटते ही फिर से पहले वाला ढर्रा चालू हो जाता है।