मुजफ्फरनगर, जेएनएन। कृषि अपशिष्ट जलाने पर किसानों पर दर्ज किए मुकदमों के विरोध में रालोद कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को कचहरी में प्रदर्शन किया। पत्ती से लदी ट्रैक्टर-ट्रॉली डीएम कार्यालय के बाहर खड़ी करने को लेकर पुलिसकर्मियों से बहस हुई। कार्यकर्ताओं ने जाते समय पत्ती को कचहरी में ही फैला दिया।

बीते दिनों कृषि अपशिष्ट जलाने पर बुढ़ाना और जानसठ तहसील में कई किसानों पर जुर्माना लगाया गया है। साथ ही किसानों पर मुकदमें भी दर्ज हुए हैं। मंगलवार को रालोद कार्यकर्ताओं ने नाराजगी जताते हुए कचहरी में प्रदर्शन किया। कार्यकर्ता ट्रैक्टर-ट्राली में पत्ती लेकर कचहरी पहुंचे। उन्होंने कहा कि गेहूं की बुवाई का समय चल रहा है। ऐसे में किसान गन्ने की फसल काटकर बुवाई करते हैं। कुछ किसान पत्ती को खेत में ही जलाते हैं। उन्होंने कहा कि किसानों पर मुकदमें दर्ज करना किसानों का शोषण है। रालोद किसानों का उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं करेगा। कार्यकर्ताओं ने पुलिस-प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी भी की। सिटी मजिस्ट्रेट अतुल कुमार ने मौके पर पहुंचकर एनजीटी और कोर्ट के आदेश का हवाला देते हुए समझाने का प्रयास किया। जिलाध्यक्ष ने कहा कि हाईकोर्ट ने किसानों को मय ब्याज के भुगतान देने के आदेश दे रखे हैं, लेकिन अमल आज तक नहीं हो पाया है। कार्यकर्ताओं ने चेतावनी दी कि यदि मुकदमें वापस नहीं हुए तो उग्र आंदोलन होगा। इस दौरान पूर्व मंत्री धर्मवीर बालियान, पूर्व मंत्री योगराज सिंह, पूर्व विधायक राजपाल बालियान, मुश्ताक चौधरी, अभिषेक चौधरी, ब्रह्मसिंह बालियान, अनुज बालियान, राममेहर राठी, सुधीर भारतीय, हर्ष राठी, कृष्णपाल राठी, विदित मलिक, जगपाल सिंह आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस