मुजफ्फरनगर, जेएनएन। बढ़ती महंगाई के विरोध में रालोद कार्यकर्ताओं ने पार्टी कार्यालय पर बाजारी मूल्य से आधे दाम पर प्याज बेच विरोध दर्शाया। दो कुंतल से अधिक प्याज हाथों हाथ बिक गईं। कार्यकर्ताओं ने कहा कि कहा कि भाजपा राज में गृहणियों की रसोई का बजट बिगड़ गया है। व्यापारियों का कारोबार ठप हो गया है, युवा बेरोजगार हैं और किसानों को फसलों का वाजिब दाम नहीं मिल पा रहा है।

सोमवार को सरकुलर रोड स्थित रालोद कार्यालय पर पार्टी पदाधिकारी व कार्यकर्ता प्याज के बारे और तराजू लेकर बैठ गए। लाउडस्पीकर पर घोषणा की कि 40 रुपये किलो प्याज बेची जा रही है। दरअसल, प्याज के बेतहाशा बढ़ते दाम के विरोध में रालोद ने सांकेतिक विरोध दर्ज किया। कार्यकर्ताओं ने केंद्र और प्रदेश सरकार के खिलाफ महंगाई को लेकर नारेबाजी भी की। उन्होंने कहा कि महंगाई बढ़ती जा रही है। युवक रोजगार नहीं मिलने से परेशान हैं, जबकि व्यापारी जीएसटी को लेकर परेशानी हैं। किसानों की आर्थिक स्थिति पहले ही खराब चल रही है। गन्ने का मूल्य अभी तक घोषित नहीं किया गया है, जबकि पूर्ण भुगतान भी नहीं हुआ है। कोल्हुओं में गन्ने के दाम काफी कम है। अन्य फसलों का वाजिब मूल्य भी किसानों को नहीं मिल रहा है। जिलाध्यक्ष अजीत राठी ने बताया कि दो कुंतल से अधिक प्याज हाथों हाथ बिक गई। बाजार में प्याज के दाम 80 रुपये प्रति कुंतल से अधिक हैं। इस दौरान पूर्व मंत्री योगराज सिंह, अनुज प्रमुख, सुधीर भारतीय, हर्ष राठी, अभिषेक चौधरी, आदेश कुमार, नौशाद आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस