मुजफ्फरनगर, जेएनएन। किसान सेवा सहकारी समिति लिमिटेड मोरना के वार्षिक अधिवेशन में समिति के लाभांश का दस प्रतिशत किसानों को देने का प्रस्ताव सर्वसम्मति से पास हुआ। वर्ष में समिति ने किसानों को 12 करोड़ 38 लाख 56 हजार रुपये का ऋण बांटा। जिससे समिति को 27 लाख 54 हजार रुपये का लाभ हुआ। इस दौरान किसानों पर दो करोड़ 90 लाख रुपये के बकाया का मुद्दा छाया रहा।

अधिवेशन में सचिव रवि बालियान ने वार्षिक प्रगति आख्या प्रस्तुत करते हुए बताया कि वर्ष 2018-19 में किसानों को 12 करोड़ 38 लाख 56 हजार रुपये का ऋण वितरित किया गया। जिससे समिति को 27 लाख 54 हजार रुपये का लाभ हुआ। जिला सहकारी बैक की शाखा प्रबंधक दीपा सैनी ने कहा कि किसान समिति से ऋण लेकर उसकी समय से अदायगी कर अधिक ब्याज देने बचें। पूर्व सभापति विनोद कुमार ने कहा कि किसानों को समय समय पर अपने खेती की मिट्टी की जांच करानी चाहिए। साधन सहकारी समिति सीकरी के सचिन ओमप्रकाश ने कहा कि किसानों को फसल चक्र अपना चाहिए और गन्ने की खेती के अलावा फूलों की खेती भी करनी चाहिए। बैठक में संचालक भंवर सिंह ने कहा कि किसानों को गेहूं की अधिक पैदावार के लिए नए-नए बीजों की बुवाई करनी चाहिए। अधिवेशन में समिति के लाभांश का दस प्रतिशत किसानों को देने तथा शौचालय बनाने का प्रस्ताव सर्व सम्मति से पास हुआ। अधिवेशन की अध्यक्षता सभापति सुनीता राठी ने की एवं संचालन सचिव रवि बालियान ने किया। बैठक को साधन सहकारी समिति तिस्सा के सचिव अनिल तिवारी, सचिव गादला ज्ञानेंद्र सिंह, सचिन भोपा अनुज मलिक ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में उप सभापति उदयवीर सिंह, संचालक राजेश कुमार, लियाकत, राजेंद सिंह, बीर सिंह आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस