मुजफ्फरनगर, जेएनएन। पाकिस्तान के ननकाना साहिब गुरुद्वारे में हुए हमले तथा एक सिख समुदाय के युवक की हत्या के विरोध की चिगारी अभी ठंडी नहीं हुई है। गुरुवार को सेक्युलर फ्रंट मुजफ्फरनगर के तत्वावधान में सभी धर्मों के लोगों ने संयुक्त रुप से कलक्ट्रेट में प्रदर्शन करते हुए पाकिस्तान में हुई घटना की निदा करते हुए हमलावरों पर कार्रवाई की मांग की।

गुरुवार को सेक्युलर फ्रंट मुजफ्फरनगर से जुड़े पदाधिकारियों सहित सभी धर्मों के लोग कलक्ट्रेट में एकत्रित हुए। उन्होंने पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के धार्मिक स्थलों व नागरिकों पर होने वाले हमलों की निदा की। प्रदर्शन के बाद एक ज्ञापन डीएम के माध्यम से संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव को भेजा गया। इसमें कहा किया कि पाकिस्तान में सिख समुदाय अल्पसंख्यक है। उनके पवित्र स्थल ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर भीड़ ने हमला करते हुए पथराव किया व पेशावर में एक सिख समुदाय के युवक की अज्ञात हमलावरों ने हत्या भी कर दी। यह दोनों घटनाएं धार्मिक मूल्यों को शर्मसार करने वाली है। उन्होंने मांग की कि पाकिस्तान सरकार को आदेश दिया जाए कि वह हमलावरों की शिनाख्त कर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए, ताकि इस प्रकार की घटनाओं की पुनरावृत्ति ना हो। इस दौरान गौहर सिद्दिकी, अशोक अग्रवाल, सुखदर्शन सिंह बेदी, रेवती नंदन सिंघल, राजेश्वर त्यागी, बाबू रौनक, अमीर आजम, महबूब आलम, अकील राणा, मौलाना ताहिर कासमी, कृष्ण गोपाल मित्तल, अमरजीत सिडाना, नूर आलम आदि मौजूद रहे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस